10 मिनिट की देरी से खराब हुआ 700 किमी का सफर और एक साल

I lost a year': Bihar boy travels 700 kms, misses NEET by 10 minutes -  india news - Hindustan Times
10 मिनिट की देरी से खराब हुआ 700 किमी का सफर और एक साल (image credit- Hindustan times)

रविवार, 13 सितंबर को पूरे भारत में NEET की परीक्षा सम्पन हुई। बहुत से छात्र इस परीक्षा के विरोध में भी उतरे, आंदोलन भी हुए यहां तक की सोशल मीडिया पर आवाजें उठीं और हैशटैग भी ट्रेंड हुए उसकेबाद में परीक्षा अपने निर्धारित तिथि और समय से सम्पन हुई। ऐसे ही बिहार के दरभंगा से NEET (राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा) की परीक्षा देने एक छात्र संतोष कुमार यादव कोलकाता पहुंचे। रस्ते की अड़चनों के बाद तक संतोष परीक्षा केंद्र पहुंचे तो उन्हें परीक्षा नहीं देने दी गयी। क्योकि संतोष 10 मिनिट देरी से पहुंचे थे।

परीक्षा हॉल में दाखिल नहीं होने मिला

संतोष ने NEET की परीक्षा के लिए 24 घंटे से ज्यादा का समय और 700 किलोमीटर का सफर तय किया और कोलकाता स्थित अपने परीक्षा केंद्र पहुंचे। लेकिन दुर्भा’ग्य से वह 10 मिनट लेट हो गए, जिसके कारण उन्हें परीक्षा हॉल में दाखिल नहीं होने दिया गया।

मैंने अपना एक साल खो दिया

संतोष दरभंगा के रहने वाले हैं। वह बिहार से कोलकता नीट की परीक्षा देने गए थे। इस लंबे सफर के दौरान उन्होंने दो बस बदली थीं। उन्होंने एक ‘न्यूज चैनल’ से कहा, ‘मैंने प्रशासन से मिन्नतें कीं। लेकिन उन्होंने कहा कि मैं लेट हूं। परीक्षा 2 बजे से शुरू होनी थी। मैं 1:40 पर सेंटर पहुंचा था। जबकि परीक्षा हॉल में दाखिल होने का वक्त 1:30 बजे तक का था। मैंने अपना एक साल खो दिया।

इसलिए पहुंचना था जल्दी

सेफ्टी प्रोटोकॉल को देखते हुए उम्मीदवारों को कम से कम 3 घंटे पहले परीक्षा केंद्र में रिपोर्ट करने को कहा गया था। हालांकि, राज्य सरकार द्वारा किए गए इंतजाम के बावजूद भी यह पाया गया कि अभ्यार्थियों को परीक्षा केंद्र तक पहुंचने में काफी समस्याएँ हुई, जिसके कारण कुछ अभ्यार्थी परीक्षा नहीं दे पाए।


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply