ट्विटर ने हमेशा के लिए सस्पेंड किया कंगना रनौत का अकाउंट, बंगाल हिंसा पर किए थे आपत्तिजनक ट्वीट्स

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत अक्सर अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रहती हैं। ट्विटर समेत अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर बेबाकी से अपनी बात रखने में वह कभी पीछे नहीं हटतीं। लेकिन कंगना का यह बड़बोलापन इस बार उनको ही भारी पड़ गया है, क्योंकि ट्विटर ने कंगना का ट्विटर अकाउंट हमेशा के लिए सस्पेंड कर दिया गया है। कंगना ने पश्चिम बंगाल में टीएमसी की जीत के बाद हुई हिंसा पर कई ट्वीट्स किए थे और साथ ही कई वीडियो और तस्वीरें भी शेयर की थीं। ट्विटर के नियमों का उल्लंघन करने की वजह से उनका अकाउंट सस्पेंड कर दिया गया है। हालांकि ट्विटर अकाउंट संस्पेंड होने के बाद कंगना अपने इंस्टाग्राम पर ऐक्टिव हैं। उन्होंने वहां एक वीडियो पोस्ट किया है और बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है।

Kangana Ranaut reacts to Twitter ban, says it proves white people feel  entitled to 'enslave' brown people | Hindustan Times
Image Credit : Hindustan Times

बंगाल हिंसा पर किए थे कई ट्वीट

कंगना रनौत मोदी सरकार की कट्टर समर्थक हैं और अक्सर वह सरकार के समर्थन में बयान देती रहती हैं। सो, इस बार भी उन्होंने ऐसा ही किया। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से कंगना इस मामले पर लगातार ट्विटर पर पोस्ट कर रही थीं। बंगाल हिंसा पर उन्होंने कई वीडियो, तस्वीरें और पोस्ट शेयर किए थे। ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी की जीत के बाद वहां से आ रही हिंसा की खबरों के बाद कंगना ने राज्य में राष्ट्रपति शासन की मांग भी की थी। इसके बाद मंगलवार को ट्विटर ने कंगना के कुछ ट्वीट्स को आपत्तिजनक मानते हुए उनका ट्विटर एकाउंट स्थायी रूप से सस्पेंड कर दिया।

ममता बनर्जी को बताया था ताड़का

बंगाल में चुनाव के बाद हुई हिंसा पर कंगना ने एक ट्वीट में ममता बनर्जी की तुलना ताड़का से करते हुए लिखा था, ‘मैं गलत थी, वह रावण नहीं है। वह तो सबसे अच्छा राजा था, जिसने दुनिया का सबसे संपन्न देश बनाया। वह महान शासक, विद्वान और वीणा वादक था। वह तो खून की प्यासी राक्षसी ताड़का है, जिन्होंने उसे वोट दिया। तुम्हारे हाथ भी खून से सने हुए हैं।’ एक और ट्वीट में कंगना कहती हैं, ‘ये भयावह है, इस गुंडई को खत्म करने के लिए हमें इससे भी बड़ी गुंडई दिखाने की ज़रूरत है। वो (ममता) एक दानव की तरह हैं जिसे खुला छोड़ दिया गया है। मोदी जी, उन्हें काबू करने के लिए कृपया अपना 2000 के दशक की शुरुआत वाला विराट रूप दिखाइए।’ यहां कंगना साल 2002 में हुए गुजरात दंगों का ज़िक्र कर रही हैं, जिसमें ना जाने कितने ही लोगों ने अपनी जान गंवा दी थी। 2002 के गुजरात दंगों के दौरान नरेंद्र मोदी वहां के मुख्यमंत्री थे।

इंस्टाग्राम वीडियो में रोती दिखीं कंगना

ट्विटर अकाउंट सस्पेंड होने के बाद कंगना ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया, जिसमें वह काफी परेशान दिख रही थीं। वीडियो में कंगना कहती हैं कि बंगाल से बहुत परेशान करने वाली तस्वीरें, वीडियो और फोटो आ रहे हैं। लोगों की हत्याएं हो रही हैं,  गैंगरेप हो रहे हैं और घरों को जलाया जा रहा है। कंगना आगे कहती हैं कि मैं सरकार की बहुत बड़ी सपोर्टर हूं, लेकिन उनसे निराश हूं। जो घटनाएं हो रही हैं उन पर धरना और कड़ी निंदा करना चाहते हैं। क्यों डर गए हैं देशद्रोहियों से? कंगना इस वीडियो में रोती दिख रही हैं और उन्होंने बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है।

अकाउंट सस्पेंड होने पर दिया जवाब

अकाउंट सस्पेंड होने पर अब कंगना का जवाब भी आया है। उन्होंने ट्विटर की कार्रवाई को पूर्व प्रत्याशित बताते हुए कहा कि वो दूसरे सोशल प्लेटफॉर्म्स के ज़रिए अपनी आवाज उठाती रहेंगी। कंगना ने न्यूज एजेंसी आईएएनएस से कहा, ‘ट्विटर ने मेरे प्वाइंट को सही साबित किया है कि ये अमेरिकी लोग हैं और जन्म से इनकी ऐसी सोच होती है कि ये ब्राउन लोगों को अपना दास मानकर चलते हैं। ये आपको बताना चाहते हैं कि क्या सोचना है, क्या बोलना है और क्या करना है। सौभाग्यवश, मैं और भी प्लेटफॉर्म्स पर हूं, जिनका इस्तेमाल मैं अपनी आवाज उठाने के साथ अपनी कला और सिनेमा को प्रमोट करने के लिए कर सकती हूं, लेकिन मेरा दिल इस देश के लोगों के लिए रो रहा है, जिन पर अत्याचार किया जा रहा है। उन्हें सालों से गुलाम बनाया जा रहा है और उनकी आवाज दबाई जा रही है। अभी भी उनके कष्टों का कोई अंत नहीं दिखता।’

किसानों को बताया था आतंकवादी

इससे पहले बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की चुनावी जीत के बाद कंगना ने अपनी एक पोस्ट में लिखा था कि वहां बांग्लादेशी और रोहिंग्या की संख्या ज्यादा है। इससे साफ नजर आता है कि हिंदू बहुमत में नहीं हैं। जबकि डेटा बंगाली मुसलामानों को पूरे भारत में सबसे गरीब और वंचित बताता है। उन्होंने यह भी लिखा था, ‘अच्छा है दूसरा कश्मीर बनने जा रहा है।’ कंगना इससे पहले भी आपत्तिजनक और सांप्रदायिक ट्वीट करती रही हैं। कुछ वक्त पहले उन्होंने कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली में आंदोलन कर रहे किसानों को आतंकवादी तक बता दिया था। इसको लेकर ट्विटर पर एक्टर और सिंगर दिलजीत दोसांझ से उनकी भिड़ंत भी हो गई थी।


Like Soochna on

Follow Soochna on

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *