असम के मुख्यमंत्री ने दिया 12000 सूअरों को मारने का आदेश, जानिए क्यों?

Assam Chief Minister Sonowal orders to kill 12000 pigs, know the reason  'here'
असम के मुख्यमंत्री ने दिया 12000 सूअरों को मारने का आदेश, जानिए क्यों? (Image Credit: Policenama)

हमारे देश में बहुत ही कम जगह है जहां सूअरों का पालन होता है। असम भी उसी जगह में से एक है, जहाँ अधिक से अधिक मात्रा में सुअरों का पालन किया जाता है। लेकिन अचानक इन बेजुबान जानवरों पर संकट आ गया है। दरअसल, असम में बीते कुछ महीनों से लगातार अफ्रीकी स्वाइन बुखार के चलते राज्य में 18,000 सुअरों की मौत हो गई है। 

इसी के चलते अब असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने अफ्रीकी स्वाइन को, जो बुखार से प्रभावित हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री ने करीब 12,000 सूअरों को मारने का आदेश दिया है। इतना ही उनका कहना है कि यह सभी सुअरों को अक्टूबर अंतिम तक खत्म कर देना चाहिए। 

दरअसल, इसके पीछे की वजह असम के अधिकारियों ने बताई कि, कोविड-19 के कारण लॉकडाउन के पहले से ही असम के सूअर पालन क्षेत्र प्रभावित था। वहीं, अब अफ्रीकी स्वाइन बुखार के चलते राअज्य में 18,000 सुअरों की मौत हो गई है। बताया जा रहा है कि, पहला स्वाइन बुखार केस मई में सामने आया था। इसके साथ ही सूअर फार्म के मालिकों का कहना है कि, सरकार का आंकड़ा गलत है, क्योंकि इस बीमारी के कारण 1,00,000 से अधिक सुअरों की मौत हो गई है।

बीमारी की कोई वैक्सीन नहीं है और इसकी मृत्यु दर 90 से 100 फीसदी है। इसके साथ ही फार्म मालिकों ने शिकायत की है कि, सरकार की ओर से न तो कोई मदद की गई है और न ही नुकसान की भरपाई की गई है। ‘

इन सब के इतर वर्ल्ड ऑर्गेनाइजेशन फॉर एनिमल हेल्थ’ के अनुसार, एएसएफ एक गंभीर वायरल बीमारी है जो घरेलू और जंगली सूअर दोनों को प्रभावित करती है। हालांकि,यह बीमारी जानवरों से इंसानों में नहीं फैलती है। इसका प्रसार दूषित चारे और वस्तुओं जैसे कि जूते, कपड़े, वाहन, चाकू के माध्यम से भी हो सकता है। 


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *