देव दीपावली पर जगमगाया काशी, सोशल मीडिया पर वायरल हुईं तस्वीरें

देव दीपावली पर जगमगाया काशी, सोशल मीडिया पर वायरल हुईं तस्वीरें

देव दीपावली वाराणसी में प्रकाश और उत्साह का एक प्रमुख त्योहार है, यह उत्सव कार्तिक माह की पूर्णिमा को मनाया जाता है। इसका मतलब यह उत्सव दिवाली के 15 दिन बाद मनाया जाता है। हर बर्ष इस उत्सव के अवसर पर काशी में गंगा नदी के किनारे पर रविदास घाट से राजघाट तक की सीढ़ियों पर लाखों दीये जलाये जाते हैं। यह भी पढ़ें: रामलला के अयोध्या में विराजमान के बाद अब मथुरा में श्रीकृष्ण ने खटखटाया अदालत का दरवाजा

दरअसल, यह उत्सव देवी गंगा के सम्मान में मनाया जाता है। इस उत्सव को त्रिपुरा पूर्णिमा स्नान के रूप में भी मनाया जाता है। देव दीपावली पर दीये जलाने की परंपरा पंचगंगा घाट से 1985 में शुरू हुई थी। इस मौके पर वाराणसी में लोग अपनी घरों की सजावट करते हैं और घर में भी दीये जलाते हैं। इस उत्सव पर लोग गंगा नदी में डुबकी लगाते हैं और दीपदान करते हैं।

देव दिपावली के कार्यक्रम में शामिल हुए पीएम मोदी

वाराणसी में देव दीपावली के मौके पर खास बात यह रही कि, उत्सव की शुरुआत प्रधानमंत्री द्वारा वाराणसी के राज घाट पर दीया जलाकर की गई, जिसके बाद गंगा नदी के दोनों किनारों पर विभिन्न घाटों पर 15 लाख से अधिक दीप जलाए गए। जिसकी फोटो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। यह भी पढ़ें: बाबा काल भैरव हैं यहां के थानेदार, बिना अनुमति कोई नहीं कर सकता शहर में प्रवेश

वाराणसी और प्रयागराज को जोड़ेगी सड़क

गौरतलब है कि, देव दिवाली के कार्यक्रम में हिस्सा लेने से पहले प्रधानमंत्री मोदी छह लेन वाली राष्ट्रीय राजमार्ग 19 को राष्ट्र के नाम समर्पित किया। यह सड़क वाराणसी को प्रयागराज से जोड़ेगी। इस सड़क के निर्माण में 2447 करोड़ रुपये की लागत से बनी है। इस सड़क के खुलने के बाद वाराणसी-प्रयागराज की दूरी तय करने में एक घंटा कम समय लगेगा।

इतना ही नहीं, पीएम मोदी की मौजूदगी में इस बार वाराणसी के घाटों पर लेजर शो का भी आयोजन किया गया है। जिस तरह से अयोध्या के लेजर शो ने दुनिया को उसकी दिपावली की भव्यता से रूबरू कराया, कुछ वैसी ही कोशिश इस बार बनारस के घाटों पर भी की‌ गई। यह भी पढ़ें: नहीं रहे ‘गोल ऑफ़ हैंड’ लगाने वाले फुटबॉलर डिएगो मैराडोना, पीएम मोदी ने भी दी श्रद्धांजलि


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply