अब बिना कार्ड निकलेंगे एटीएम से पैसे, बस स्मार्टफोन से स्कैन करना होगा क्यूआर कोड

कई बार आप पैसे निकालने के लिए एटीएम तक जाते हैं, लेकिन अपना डेबिट कार्ड साथ ले जाना भूल जाते हैं। अगर आप सोच रहे हैं कि बिना कार्ड के पैसे कैसे निकलेंगे तो आपकी यह परेशानी जल्द ही दूर होने वाली है। आने वाले दिनों में आप अपने स्मार्टफोन के जरिए एटीएम से आसानी से पैसे निकाल सकेंगे। बैकों ने मोदी सरकार के डिजिटल इंडिया मिशन को बढ़ावा देने के लिए कमर कस ली है और वे बिना कार्ड ट्रांजैक्शन की सुविधा शुरू करने की तैयारी कर रहे हैं। साल 2016 में हुई नोटबंदी के दौरान ऑनलाइन पेमेंट को काफी बढ़ावा मिला था। लोगों ने यूपीआई (यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस) आधारित सर्विस के जरिए कैशलेस ट्रांजेक्शन करना शुरू कर दिया। यही वजह है कि पिछले कुछ सालों में पेटीएम, गूगल पे, अमेजन पे, फोन पे, और एयरटेल मनी जैसे ऑनलाइन पेमेंट ऐप्स का इस्तेमाल काफी बढ़ गया है।

3 Indian banks testing contactless ATMs | ATM Marketplace
Image Credit : Atmmarketplace

एनसीआर ने शुरू की ICCW सर्विस

ऑनलाइन पेमेंट से जहां आप घर बैठे पैसों का भुगतान कर सकते हैं, वहीं अब एटीएम से पैसे निकालना भी खासा आसान होने वाला है। जल्द ही एटीएम से कैश निकालने के लिए आपको डेबिट कार्ड की जरूरत नहीं पड़ेगी। इसके लिए आपको केवल अपने स्मार्टफोन का इस्तेमाल करना होगा। एटीएम मशीन बनाने वाली कंपनी एनसीआर (NCR) ने इसके लिए सिटी यूनियन बैंक के साथ साझेदारी की है। कंपनी ने यूपीआई इंटरफेस पर आधारित पहली इंटर ऑपरेबल कार्डलेस कैश विड्रॉल (ICCW) सर्विस शुरू की है। इस सर्विस की मदद से यूजर क्यूआर कोड स्कैन करके अपने अकाउंट से पैसे निकाल सकेंगे।

क्यूआर कोड स्कैन कर निकलेंगे पैसे

इस नेक्स्ट जेनरेशन टेक्नोलॉजी को फिलहाल सिटी यूनियन बैंक के 1500 एटीएम मशीन के साथ जोड़ा गया है। इन इंटिग्रेटेड एटीएम मशीन के जरिए यूजर्स अपने अकाउंट से पैसे निकालने के लिए क्यूआर कोड का इस्तेमाल कर सकेंगे। इसका फायदा यह होगा कि डेबिट कार्ड न होने पर भी ग्राहकों को अपने खाते से पैसे निकालने में कोई दिक्कत नहीं होगी। 

अभी निकलेंगे सिर्फ 5 हजार रुपए

ICCW सर्विस के साथ एटीएम मशीन से पैसा निकालने के लिए यूजर के स्मार्टफोन में गूगल पे, भीम, पेटीएम, फोन पे या अमेजन पे जैसा कोई भी यूपीआई ऐप होना जरूरी है। यूपीआई ऐप को ओपन करने के बाद यूजर को एटीएम की स्क्रीन पर दिख रहे क्यूआर कोड को स्कैन करना होगा। कोड स्कैन करने के बाद यूजर को खाते से निकाले जाने वाली रकम के साथ यूपीआई पिन भरना होगा। यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद एटीएम से पैसे निकाले जा सकेंगे। हालांकि, इस तकनीक के जरिए अभी तक केवल 5000 रुपए तक ही निकाले जा सकते हैं।

कितनी सुरक्षित है यह तकनीक

यह तकनीक डेबिट कार्ड से पैसे निकालने के मुकाबले कहीं ज्यादा सुरक्षित होगी, क्योंकि इसमें कार्ड की क्लोनिंग नहीं की जा सकेगी और न ही नकली कार्ड बनाए जा सकेंगे। सबसे अच्छी बात है कि हर बार पैसे निकालने के लिए नया क्यूआर को मिलेगा, जिसकी वजह से कोड की भी नकल नहीं की जा सकेगी। इससे साफ है कि अन्य डिजिटल पेमेंट की तरह यह प्रक्रिया भी काफी सुरक्षित होगी।


Like Soochna on

Follow Soochna on

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *