कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल का निधन, मोदी राहुल सहित इन नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

Senior Congress leader Ahmed Patel passed away
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल का निधन, मोदी राहुल सहित इन नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पार्टी के कोषाध्यक्ष अहमद पटेल का बुधवार 25 नवंबर सुबह 3 बजकर 30 मिनट पर निधन हो गया। इस बात की जानकारी उनके बेटे फ़ैसल पटेल ने अपने वेरिफ़ाइड अकाउंट से ट्वीट कर दी है। यह भी पढ़ें: PM मोदी ने संबोधन में कोरोना को गंभीरता से लेने की की अपील, कहा- जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं

दरअसल, 71 वर्षीय अहमद पटेल पिछले महीने कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए थे और गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल के ICU में भर्ती थे। जहां उन्होंने अपनी अंतिम सांस ली। इलाज के दौरान उनके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था।

उनके बेटे फैसल पटेल ने ट्विटर पर अपने पिता के निधन की जानकारी साझा की। फैसल ने लिखा, “एक साथ कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था जिसकी वजह से उनका निधन हो गया। अपने सभी शुभचिंतकों से अनुरोध करता हूं कि इस वक्त कोरोना वायरस के नियमों का कड़ाई से पालन करें और सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर दृढ़ रहें और किसी भी सामूहिक आयोजन में जाने से बचें।” यह भी पढ़ें: अमित शाह की वर्चुअल रैली के बाद राहुल-राजनाथ में शुरू हुई ट्विटर वॉर

पटेल के बारे में…

सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार रहे अहमद पटेल का जन्म 21 अगस्त 1949 को गुजरात में भरुच ज़िले के पिरामल गांव में हुआ था। उस वक्त भरूच कांग्रेस का गढ़ हुआ करता था। पटेल पहली बार 1977 में 26 वर्ष की आयु में भरूच से लोकसभा का चुनाव जीतकर संसद पहुंचे थे। पटेल यहां से तीन बार लोकसभा सांसद चुने गए। पार्टी में धीरे-धीरे उनका कद बढ़ता गया और 1985 में तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी के संसदीय सचिव बनाए गए। यह भी पढ़ें: पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपनी किताब में राहुल को बताया ‘नर्वस नेता’, पुतिन और बाइडेन का भी किया जिक्र

जिसके बाद, पटेल को 1986 में गुजरात कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया। वह 1988 में गांधी-नेहरू परिवार द्वारा संचालित जवाहर भवन ट्रस्ट के सचिव बनाए गए। वह सोनिया और राजीव दोनों के विश्वासपत्र रहे।

इसके अलावा, पटेल तीन बार लोकसभा सांसद के अलावा पांच बार राज्यसभा सांसद भी रह चुके थे। पर्दे के पीछे से राजनीति करने वाले श्री पटेल को 2018 में कांग्रेस पार्टी का कोषाध्याक्ष नियुक्त किया गया था। यह भी पढ़ें: नरोत्तम का राहुल पर तंज, बोले- ‘इतनी अच्छी क्वालिटी का नशा लाते कहां से हैं, मुझे नहीं समझ आता’

इन नेताओं ने दी श्रद्धांजलि


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply