योगी सरकार ‘लव जिहाद‘ पर जल्द ला सकती है सख्त कानून

उत्तर प्रदेश में इन दिनों ‘लव जिहाद‘ का मुद्दा उफान पर है। दरअसल, राज्य के कानपुर, लखीमपुर खीरी, बलरामपुर सहित अनेक जिलों से आ रही महिला उत्पीड़न और लव जेहाद की खबरों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त कदम उठाने के निर्देश दिए हैं।

वहीं इस मुद्दे को लेकर लंबे समय से संघर्ष कर रहे विश्व हिन्दू परिषद चाहता है कि इसे रोकने के लिए कड़ा कानून बनाया जाए। राज्य में मामले बढ़ते देख मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों से ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए हैं।

हाल ही में मेरठ, खीरी, और कानपुर में लव जिहाद के मामलों ने तूल पकड़ लिया है‌। यहां पिछले दिनों लड़कियों को प्रेमजाल में फंसाने की बातें सामने आयी हैं। इसके साथ ही यदि कानून बनता है तो यूपी देश का 9वां ऐसा प्रदेश बन जाएगा, जहां धर्मांतरण के खिलाफ कानून है।

विश्व हिन्दू परिषद चला रहा जागरूकता अभियान

विश्व हिन्दू परिषद के कानपुर के प्रांत संगठन मंत्री मधुराम मिश्रा ने कहा कि “लव जिहाद का मामला बहुत पुराना है। इसे लेकर एक गिरोह सक्रिय है। कानपुर, फरूर्खाबाद, झांसी, इटावा, हमीरपुर, ललितपुर, फतेहपुर, हर जिले में कुछ न कुछ केस हैं। लोग हमारे संपर्क में हैं, इसे लेकर हम लोग जागरूकता कर रहे हैं।“

युवती ने धर्म परिवर्तन कर किया निकाह

पिछले दिनों कानपुर के बर्रा-6 की युवती ने सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल कर धर्म परिवर्तन कर अपनी मर्जी से निकाह करने की बात कही थी। इसके बाद विश्व हिंदू परिषद के कार्यकतार्ओं ने युवक पर जबरन धर्म परिवर्तन कराने का आरोप लगाते हुए किदवई नगर थाने के बाहर हंगामा किया। इस दौरान उन्होंने युवती को बरामद करने और आरोपी युवक को गिरफ्तार कर कार्रवाई की मांग की थी।

सीएम योगी का चुनावी मुद्दा रहा था ‘लव जिहाद’

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा उपचुनाव में ‘लव जिहाद’ मुद्दे को बड़ी तेजी के साथ उठाया गया था। 2014 के उपचुनाव के दौरान योगी आदित्यनाथ चुनावी रैलियों में कहते थे, ‘अब जोधाबाई अकबर के साथ नहीं जाएगी और सिकंदर अपनी बेटी चंद्रगुप्त मौर्य को देने के लिए मजबूर होगा। योगी ने कई बार इसे अन्तर्राष्ट्रीय सजिश भी बताया है।


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *