ऋषिकेश में गंगा किनारे घूम रहे थे विदेशी, पुलिस ने 500 बार लिखवाया 'Sorry'

Foreigners break lockdown order
Image credit: Trending A to Z

कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए देशभर में लगाया गया 21 दिनों का लॉकडाउन मंगलवार को खत्म होने वाला है। हालांकि लगातार बढ़ रहे संक्रमण के मामलों को देखते हुए ये अटकलें लगाई जा रही हैं कि लॉकडाउन का समय और बढ़ाया जा सकता है। इसी बीच लॉकडाउन के दौरान उत्तराखंड के ऋषिकेश में गंगा घाट पर घूमना और गंगा के पानी में डुबकी लगाना विदेशी पर्यटकों के एक ग्रुप को महंगा पड़ गया। पुलिस ने लॉकडाउन का नियम तोड़ने के लिए इन्हें ऐसी अनोखी सजा दी कि शायद अब वे दोबारा ऐसा करने की सोचेंगे भी नहीं।

गंगा किनारे टहल रहे थे विदेशी पर्यटक

दरअसल उत्तराखंड में सुबह 7 बजे से दोपहर 1 बजे तक लॉकडाउन में छूट रहती है। इस दौरान स्थानीय लोग अपने जरूरी काम निपटाते हैं। इसी छूट का फायदा उठाते हुए कुछ विदेशी पर्यटक गंगा के किनारे टहलने निकल गए। हालांकि वे स्थानीय पुलिस पुलिस की नजरों से बच नहीं पाए और उनके साथ कुछ ऐसा हुआ जो उन्होंने सपने में भी नहीं सोचा होगा। टिहरी गढ़वाल जिले के तपोवन इलाके के चौकी इंचार्ज विनोद शर्मा अपनी टीम के साथ पेट्रोलिंग कर रहे थे और उनकी नजर इन विदेशियों पर पड़ी। उन्होंने जब विदेशी नागरिकों से पूछा कि क्या उन्हें मालूम नहीं कि लॉकडाउन के दौरान इधर-उधर टहलना मना है। तो उन्होंने जवाब दिया कि वे छूट के समय सिर्फ गंगा के किनारे ध्यान लगाने आए थे। इस पर चौकी इंचार्ज ने कहा कि लॉकडाउन में छूट सिर्फ जरूरी सामान खरीदने के लिए दी गई है, न कि बेवजह इधर-उधर घूमने के लिए।

पुलिस ने 500 बार लिखवाया ‘आई एम सॉरी’

हालांकि उन विदेशी पर्यटकों ने इसके लिए पुलिसवालों से माफी मांगी, लेकिन पुलिस ने उन्हें ऐसी अनोखी सजा दी, ताकि वे आगे ऐसी गलती न करें। चौकी इंचार्ज विनोद शर्मा ने सभी विदेशी पर्यटकों को पहले लॉकडाउन की अहमियत समझाई। इसके बाद उन्हें सबक सिखाने के लिए हर एक एक विदेशी से माफीनामा लिखवाया गया और वो भी एक बार नहीं बल्कि 500 बार। जी हां, पुलिस ने सभी से एक पेज पर 500–500 बार ‘I did not follow the rules of lockdown. I am very sorry (मैं माफी मांगता हूं कि मैंने नियमों का पालन नहीं किया)’ लिखवाया। पुलिस का मानना है कि इस तरह की सजा ज्यादा प्रभावी होती है। लॉकडाउन का नियम तोड़ने वाले इन विदेशियों में इजराइल, ऑस्ट्रेलिया, मैक्सिको और लातविया के छह पुरुष और चार महिलाएं शामिल थीं।

नियम तोड़ने वालों पर होगी कार्रवाई

उत्‍तराखंड के एक वरिष्‍ठ अधिकारी के मुताबिक, लॉकडाउन के कारण ऋषिकेश में बड़ी संख्या में विदेशी पर्यटक फंसे हैं। पुलिस और प्रशासन की ओर से कई बार चेतावनी देने के बाद भी ये पर्यटक न ही लॉकडाउन का पालन कर रहे हैं और न मास्‍क पहन रहे हैं। पुलिस ने इनके खिलाफ सख्त कदम उठाते हुए तय किया है कि अब नियमों का उल्‍लंघन करने वाले विदेशी पर्यटकों के खिलाफ आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज किया जाएगा। तपोवन पुलिस चौकी के इंचार्ज विनोद कुमार का कहना है कि नियम ना मानने वालों को अब सजा भी हो सकती है। पुलिस का यह संदेश विदेशी पर्यटकों तक पहुंचाने की जिम्‍मेदारी होटल, लॉज और आश्रमों को सौंपी गई है, जिससे विदेशी पर्यटकों से मास्क और लॉकडाउन के नियमों का पालन कराया जा सके। उन्‍होंने बताया कि क्षेत्र में अनुशासन बनाए रखने के लिए पुलिस कई कदम उठा रही है, जिससे कोरोना महामारी से जारी लड़ाई में सहयोग किया जा सके। उन्‍होंने बताया कि फिलहाल बड़ी संख्या में विदेशी तपोवन, स्वर्गाश्रम और लक्ष्मण झूला क्षेत्र में रह रहे हैं। हालांकि इनमें से आधे से ज्यादा नियमों का पालन करते हैं।


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply