‘फटी जीन्स’ वाले बयान पर उत्तराखंड के सीएम ने मांगी माफी, पत्नी भी बचाव में उतरीं

महिलाओं के फटी जीन्स पहनने को लेकर दिए गए अपने बयान पर घिरे उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने अब अपने बयान के लिए माफी मांगी है। मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को कहा कि मुझे जींस से एतराज नहीं है। यदि किसी को फटी जींस पहनना ठीक लगता है तो मुझे कोई एतराज नहीं है, किसी को यदि बुरा लगा है तो मैं उसके लिए क्षमा मांगता हूं। रावत ने कहा, ‘मैं ग्रामीण परिवेश से आया हूं। जब हम स्कूल में जाते थे, कभी पैंट फट जाती थी तो लगता था कि स्कूल में कैसे जाएंगे क्योंकि स्कूल में अनुशासन बहुत सख़्त था। हम पैंट में टैग लगाकर जाते थे।’  रावत ने कहा, ‘मेरा ग़लत इरादा नहीं था और मेरी भी बेटी है। मैंने यह कहा था कि हमें अपने घर में किस तरह के संस्कार देने चाहिए। इस संदर्भ में ही यह बात कही थी।’ उन्होंने कहा कि बच्चों में संस्कार और अनुशासन जरूरी है।

CM Tirath's statement on torn jeans, his wife Rashmi Tyagi Rawat gave this  reaction - AtZ News
Image Credit : AtZ News

बयान के विरोध में कांग्रेस का प्रदर्शन

इससे पहले मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को महिलाओं के पहनावे पर टिप्पणी देने के कारण महिला नेताओं सहित सोशल मीडिया पर भी लोगों के गुस्से का शिकार होना पड़ा था। इस मामले में उनका दूसरा वीडियो गुरुवार को वायरल हो गया। इस वीडियो में वह श्रीनगर के कॉलेज का किस्सा सुनाते हुए लड़कियों के शॉर्ट्स पर टिप्पणी करते दिखाई रहे हैं। तीन दिन पहले उन्होंने महिलाओं के ‘फटी जीन्स’ पहनने को लेकर टिप्पणी की थी। उनके इस बयान को लेकर देहरादून, अल्मोड़ा, हरिद्वार समेत कई शहरों में गुरुवार को कांग्रेस ने प्रदर्शन किया और सोशल मीडिया पर भी मुख्यमंत्री की टिप्पणी का विरोध हो रहा है।

सीएम तीरथ के बचाव में आईं पत्नी

वहीं इस मामले में मुख्यमंत्री को घिरता देख उनकी पत्नी डॉ. रश्मि त्यागी रावत उनके बचाव में आगे आई हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री के बचाव में एक वीडियो जारी किया, जिसमें वह कहती हैं कि तीरथ ने जिस संदर्भ में यह बात कही है, उसका गलत मतलब निकाला गया है। उनके अनुसार, सिर्फ एक शब्द को पकड़कर विपक्षियों ने मुद्दा बना लिया है। डॉ. रश्मि बताती हैं कि तीरथ का मानना है कि महिलाओं की भागीदारी समाज और देश निर्माण के लिए अत्यंत ही महत्वपूर्ण है। महिलाएं हमारी सांस्कृतिक धरोहर को बचाएं, हमारी पहचान को बचाएं, हमारी वेशभूषा को बचाएं।

इस बयान पर मचा विवाद

यह विवाद मंगलवार को मुख्यमंत्री तीरथ रावत के उस बयान के बाद शुरू हुआ, जब उन्होंने देहरादून में बाल आयोग के एक कार्यक्रम में फटी जीन्स को लेकर विवादित बयान दिया। मुख्यमंत्री ने कहा था कि, आजकल के युवा घुटनों पर फटी जीन्स पहनकर खुद को बड़े बाप का बेटा समझते हैं। ऐसे फैशन में लड़कियां भी पीछे नहीं हैं। तीरथ के फटी जींस वाले बयान पर आम महिलाओं से लेकर सियासत में सक्रिय महिलाओं ने भी तीखी टिप्पणी की थी और साथ ही फटी जीन्स पहने हुए अपनी तस्वीर भी पोस्ट की थी।


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply