एक साथ 25 स्कूलों में कार्यरत रहने वाली शिक्षिका अनामिका शुक्ला गिरफ्तार, पुलिस की पूछताछ जारी

Read in English

हाल ही उत्तर प्रदेश में शिक्षिका गड़बड़ी का एक बहुत बड़ा मामला समाने आया था। जिसके बाद उत्तर प्रदेश के मानव शिक्षा विभाग पर सवाल उठना शुरू हो गए थे। अब इस मामले में एक बहुत बड़ी खबर सामने आई है। इस मामले की अरोपी शिक्षिका अनामिका शुक्ला को गिरफ्तार कर लिया गया है। अनामिका एक साथ 25 स्कूलों में काम करने और एक साल में 1 करोड़ रूपये तक कमाने के मामले के अरोपी पाई गईं थी। जिसके खुलासे के बाद अनामिका गायब हो गई थी और पुलिस ने उनकी तलाश शुरू कर दी थी।

मित्र के माध्यम से त्यागपत्र पहुंचाने के दौरान पकड़ाई गई अनामिका शुक्ला

जब अनामिका ने अपना त्यागपत्र कासगंज बेसिक शिक्षा अधिकारी को एक मित्र के माध्यम से भेजा था तो पुलिस ने उस मित्र को हिरासत में लिया था और उससे अनामिका के बारे में पूछताछ की थी। इसके बाद पुलिस ने शिक्षा अधिकारी को भेजा, जिसने अनामिका को सड़क पर पकड़ा और सोरो पुलिस स्टेशन को सौंप दिया। अनामिका मैनपुरी में रहती थी। अनामिका अंबेडकर नगर, बागपत, अलीगढ़, सहारनपुर और प्रयागराज जिलों आदि में कई स्कूलों में एक साथ काम करती थी।

पोर्टल पर रिकाॅर्ड अपलोड करने के दौरान अनामिका की गड़बड़ी का मामला सामने आया।

अनामिका का एक 25 स्कूलों में गड़बड़ी का मामला तब सामने आया। जब शिक्षकों का एक डेटाबेस मानव सेवा पोर्टल पर बनाया जा रहा था। जिसमें शिक्षकों के व्यक्तिगत रिकॉर्ड, जुड़ने की तारीख और पदोन्नति जैसे विवरणों की आवश्यकता थी। एक बार रिकॉर्ड अपलोड होने के बाद, शुक्ला के व्यक्तिगत विवरण को कथित तौर पर 25 स्कूलों में सूचीबद्ध पाया गया।

बेसिक शिक्षा अधिकारी अंजली अग्रवाल, जिन्होंने शुक्रवार को शुक्ला के वेतन को रोक दिया था और उन्हें नोटिस जारी किया था, अंजली ने कहा कि शिक्षक के खिलाफ किसी और के रिकॉर्ड का उपयोग करने के आरोप में जांच शुरू की गई थी।इस मामले में स्कूल शिक्षा महानिदेशक, विजय किरण आनंद ने पुष्टि की थी कि मामले में तथ्यों का पता लगाने के लिए जांच की जा रही है।


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *