Twitter ने जम्मू-कश्मीर को बताया चीन का हिस्सा, यूजर्स भड़के

Twitter will tell users if content was blocked to comply with local laws or  legal demands | TechCrunch
Twitter ने जम्मू-कश्मीर को बताया चीन का हिस्सा, यूजर्स भड़के

माइक्रो ब्लॉगिंग साईट ट्विटर ने लाइव ब्रॉडकास्ट के दौरान ऐसी गड़बड़ी की, जिसको लेकर बवाल हो गया है। दरअसल लाइव ब्रॉडकास्ट के दौरान ट्विटर जम्मू-कश्मीर को चीन का हिस्सा बता रहा था। जिसको लेकर लोग भड़क गए जिसके बाद यूजर्स ने दूरसंचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद से शिकायत की है।

दरअसल पत्रकार नितिन गोखले ने इसको लेकर ट्वीट किया और शिकायत कि, ट्विटर के हॉल ऑफ फेम फीचर में लेह सिलेक्ट करने पर लोकेशन में, ‘जम्मू-कश्मीर, पीपल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना’ दिखा रहा है। गोखले ने यह भी बताया कि जब दोबारा ट्विटर के इस फीचर को टेस्ट किया तो फिर वह लोकेशन ‘जम्मू-कश्मीर, पीपल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना’ दिखा रहा है। यह भी पढ़ें: वैज्ञानिको का दावा, फरवरी 2021 में काबू में आ जाएगा कोरोना वायरस

दरअसल, इससे पहले भी ट्विटर इस तरह की शिकायत देखी जा चुकीं हैं। साल 2012 में भी शिकायत आई थी कि ट्विटर जम्मू-कश्मीर को पीपल्स रिपब्लिक चाइना का पार्ट बता रहा है। जिस पर ट्विटर अधिकारियों ने इसे तकनीकी खामी बताया था। यह भी पढ़ें: दुबई से आए यात्रियों की तलाशी में प्राइवेट पार्ट्स से बरामद हुआ चार किलो से ज्यादा सोना, कीमत जानकर उड़ जाएंगे होश

इस मामले को ऑब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन की फेलो कंचन गुप्ता ने उठाया। उन्होंने पाया कि ट्वीट्स में जम्मू-कश्मीर को चीन का हिस्सा बताया जा रहा है।

जिसके बाद उन्होंने ट्वीट करते हुए दूरसंचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद को टैग करके लिखा, “तो ट्विटर ने जम्मू एवं कश्मीर के भूगोल को बदलने का निर्णय लिया है और जम्मू एवं कश्मीर को पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना के हिस्से के रूप में दिखाने का निर्णय किया है। क्या यह भारत के कानून का उल्लंघन नहीं है? भारत में तो लोगों को छोटी-छोटी बातों पर सताया जाता है। क्या अमेरिका की बिग टेक कंपनी कानून से ऊपर है?” यह भी पढ़ें: इस आईपीएस अफसर ने बताया अपनी 1 मिलियन डॉलर से भी ज्यादा की कमाई का राज

इसके अलावा कई यूजर्स ने रविशंकर प्रसाद और सरकार से ट्विटर इंडिया के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। यह भी पढ़ें: ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का हुआ सफलतापूर्वक परीक्षण, 400 किलोमीटर से ज्यादा दूरी तक का टारगेट कर सकता है ध्वस्त


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *