बेटे आकाश अम्बानी और बेटी ईशा अंबानी ने साथ मिलकर कराई 5.7 अरब डॉलर की डील

बेटे आकाश अम्बानी और बेटी ईशा अंबानी ने साथ मिलकर कराई 5.7 अरब डॉलर की डील- सूचना
Image credit: Forbes

कोरोना महामारी की वजह से जहां पूरा कारोबार बंद पड़ा है, वही रिलायंस के मुखिया मुकेश अंबानी और फेसबुक के प्रमुख मार्क जुकरबर्ग ने 5.7 अरब डॉलर की डील की है। इन्होने अपने इरादों पर कोरोना का प्रभाव नहीं पड़ने दिया है। जिस प्रोजेक्ट के अंतर्गत काम किया गया है उस प्रोजेक्ट का नाम ‘प्रोजेक्‍ट रेडवुड’ रखा गया था, क्योकि कैलिफोर्निया में रेडवुड के बहुत पेड़ हैं और फेसबुक का मुख्यालय भी वहीं है।  इस डील पर बहुत गोपनीय तरीके से काम किया गया और इसमें कई महीनो की मेहनत भी लगी है।

Read full deal in English

रिलायंस और फेसबुक के बीच डील के लिए मुकेश अंबानी ने 14 महीने पहले मार्क जकरबर्ग से बातचीत करना शुरू कर दिया था। पिता की इस डील को लक्ष्य तक पहुंचाने के लिए बेटे आकाश और बेटी ईशा अंबानी आगे आए और दोनों ने कई बार फेसबुक मुख्यालय का दौरा भी किया। आकाश और ईशा अंबानी ने इस डील को पूरा करने के लिए रिलायंस की 30 सदस्यों की कोर टीम बनाई। साथ में इस मिशन को गोपनीय रखा गया। इस गुप्त मिशन को 14 महीने में पूरा करने के लिए ‘प्रोजेक्ट रेडवुड’ नाम दिया गया।आकाश व ईशा अम्बानी के व्यापारिक कार्य को देख कर यह अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि आगे भी अम्बानी परिवार एशिया सबसे बड़ी हस्तियों में गिने जायेगे।

बेटे आकाश अम्बानी और बेटी ईशा अंबानी ने साथ मिलकर कराई 5.7 अरब डॉलर की डील- सूचना
Image credit: Business Today

इस प्रोजेक्ट के पुरे होने की कहानी कुछ इस तरह से है:

22 अप्रैल को लॉकडाउन के दौरान वीडियो कांफ्रेंसिंग से कंपनी के कोर टीम के दिग्गज मनोज मोदी, पंकज पवार और अंशुमन ठाकुर ने कई घंटों तक बिना सोए डील को साइन करवा लिया। मुकेश अंबानी और मार्क जकरबर्ग के बीच बातचीत में उस समय तेजी आई जब फेसबुक ने अजीत मोहन को कंपनी का भारत प्रमुख बनाया। 

जियो और फेसबुक के बीच 5.7 अरब डॉलर की यह डील कराने में अंशुमान ठाकुर की बड़ी अहम भूमिका रही है। रिलायंस में स्ट्रैटेजी और प्लानिंग हेड का काम संभालने से पहले अंशुमान ठाकुर एनएम-रॉशचाइल्‍ड-एंड-मॉर्गन स्‍टेनले में मुख्य भूमिका में थे। उनका काम था, कंपनी के लिए नए बिजनेस लेकर आना, फेसबुक-जियो डील के लिए अंशुमान ठाकुर बुधवार सुबह 4 बजे से फोन पर लग गए थे। डील से पहले उन्‍होंने तमाम दस्‍तावेजों के साथ पूरी तरह तैयारी कर ली थी। वह इस डील पर पिछले 4 सालो से काम कर रहे है। यह अंशुमान ठाकुर के करियर की सबसे हाई प्रोफाइल डील थी। कोरोना महामारी ने मुश्किल और अधिक बढ़ा दी थी।

डील पर बात चल ही रही थी कि दुनियाभर के ज्यादातर देशों में लॉकडाउन हो गया। लॉकडाउन के बाद सिर्फ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ही एकमात्र आखिरी रास्ता था। 16 मार्च की मीटिंग कैंसिल होने के बाद दोनों कंपनियों के बीच पहली वर्चुअल मीटिंग भारत में लॉकडाउन शुरू होने से पहले वीकेंड में हुई थी तभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 मार्च को यहां लॉकडाउन की घोषणा की थी। आखिरकार यह डील बुधवार को पूरी हो गई और रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में काफी उछाल आया साथ ही मुकेश अंबानी एक बार फिर एशिया के सबसे अमीर शख्स बन गए। उन्होंने अलीबाबा के जैक मा को भी पीछे छोड़ दिया है। 


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply