दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीन उत्पादक ने सरकार से पूँछे सवाल, बोले- क्या सरकार के पास वैक्सीन खरीदने के लिए उपलब्ध हैं 80,000 करोड़ रुपए

देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। इसके साथ ही अब तक देश में संक्रमण के कुल मामले 59 लाख से ज्यादा हो चुके हैं। ऐसे में दुनियाभर में लोगों को सिर्फ कोरोना वायरस वैक्सीन का इंतजार है। लेकिन अभी तक सभी संभावित वैक्सीन ट्रायल स्टेज पर ही हैं।

इसी बीच दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीन उत्पादक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया यानी कि एसआईआई के सीईओ अदार पूनावाला ने भारत सरकार से एक महत्वपूर्ण सवाल पूछा है।

दरअसल, 26 सितंबर को पूनावाला ने ट्विटर पर लिखा कि, “क्या भारत सरकार के पास अगले एक साल में 80,000 करोड़ रुपये उपलब्ध होंगे? क्योंकि इतना पैसा केंन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को चाहिए होगा भारत में प्रत्येक व्यक्ति के लिए वैक्सीन खरीदने और उसे बाँटने के लिए। यह चुनौती है जिसका हमें सामना करना है। इसके बाद उन्होंने पीएमओ को टैग भी किया है।

अदार पूनावाला ने ट्विटर पर बताया कि वो ये सवाल क्यों पूछ रहे हैं। पूनावाला ने लिखा, “हमें योजना बनानी है और अपने देश के लिए वैक्सीन का इंतजाम और डिस्ट्रीब्यूशन करने के लिए भारत और विदेश के वैक्सीन उत्पादकों को गाइड करना है।”

SII के साथ ऑक्सफोर्ड वैक्सीन की पार्टनरशिप

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और AstraZeneca के साथ उसकी वैक्सीन के उत्पादन और डिस्ट्रीब्यूशन के लिए पार्टनरशिप की है। इस वैक्सीन के लिए एसआईआई देश में क्लीनिकल ट्रायल्स कर रहा है।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, यह ट्रायल्स मुंबई के केईएम और नायर अस्पतालों में चल रहे हैं। इसके साथ ही रिपोर्ट का कहना है कि, आने वाले हफ्तों में यह ट्रायल्स पुणे के एक सरकारी अस्पताल में भी शुरू होंगे।

इन सब के इतर, एसआईआई ने Novavax के साथ उसकी वैक्सीन NVXCoV2373 के लिए भी पार्टनरशिप की है।


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply