कोरोनावायरस का खतरा : बुजुर्गों का रखें खास खयाल

साल 2050 तक दुनिया भर में बुजुर्गों (60 या उससे ज्यादा की उम्र वाले लोग) की तादाद तकरीबन दो बिलियन यानी 200 करोड़ या उससे ज्यादा हो जाएगी, जोकि फिलहाल करीब 100 करोड़ है। आपको तो पता ही है कि आजकल दुनिया के कई देश कोरोना वायरस के खतरे से जूझ रहे हैं। इस वैश्विक बीमारी की चपेट में आने का सबसे ज्यादा खतरा बुजुर्गों को ही है, क्योंकि बढ़ती उम्र के साथ उन्हें कई बीमारियां घेर लेती हैं और उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता घटती जाती है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक, मौजूदा वक्त में पूरी दुनिया में करीब 12.5 करोड़ लोग 80 साल या उससे ज्यादा की उम्र के हैं और 2050 तक यह संख्या बढ़कर 43.4 करोड़ हो जाएगी।

Image result for कोरोना का खतरा : बुजुर्गों का रखें खास खयाल
Image credit: Patrika

हाल ही में चीन में कोरोनावायरस से पीड़ित 72000 से ज्यादा मरीजों के परीक्षण की रिपोर्ट बताती है कि इस बीमारी की मृत्युदर करीब 2.3 फीसदी है जबकि 80 से ज्यादा की उम्र के लोगों में यह दर बढ़कर 15 फीसदी हो गई। इसी तरह के दूसरे शोधों से भी पता चलता है कि बुजुर्गों को इस वायरस से अन्य लोगों के मुकाबले दोगुना खतरा है। ऐसे में उन्हें यही सलाह दी गई है कि वे भीड़भाड़ वाले इलाकों या दूसरे सार्वजनिक स्थानों पर जाने से बचें और मुमकिन हो तो फिलहाल घर पर ही रहें। दिल के मरीज, फेफड़े की बीमारी और डायबिटीज से जूझ रहे लोगों को भी इस वायरस की चपेट में आने पर ज्यादा खतरा है।

दिल्ली के इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल के डॉ. राजेश चावला के मुताबिक, 50 साल से ऊपर की उम्र वाले लोग जोकि डायबिटीज या दिल के मरीज हैं, उन्हें अतिरिक्त सावधानी बरतने की जरूरत है क्योंकि कोरोना वायरस उनके लिए ज्यादा खतरा पैदा कर सकता है। उन्होंने ऐसे लोगों को फिलहाल हवाई यात्राएं नहीं करने की सलाह भी दी है।

अगर आपके घर में भी कोई बुजुर्ग है तो उनकी ज्यादा देखभाल कीजिए है और उन्हें कोरोना वायरस के खतरे से बचाइए।


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply