पंजाब सरकार ने लिया हरभजन सिंह का खेल रत्न नामांकन वापस, भज्जी ने दी सफाई

पंजाब सरकार ने लिया हरभजन सिंह का खेल रत्न नामांकन वापस, भज्जी ने दी सफाई | सूचना
Image credit: India TV News

भारत के दिग्गज ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने शनिवार को ट्वीट कर के स्पष्ट किया कि पंजाब सरकार ने इस साल के राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार के लिए उनका नामांकन वापस लेने का फैसला इसलिए किया क्योंकि वह देश के सर्वोच्च खेल सम्मान के उचित पात्र नहीं हैं।

हरभजन ने ट्वीट किया, “मुझे इतने सारे फोन आ रहे हैं कि पंजाब सरकार ने खेल रत्न से मेरा नामांकन वापस क्यों ले लिया। सच यह है कि मैं खेल रत्न के लिए योग्य नहीं हूँ जिसमें मुख्यत: पिछले तीन साल के अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शन को देखा जाता है।”

अगले ट्वीट में उन्होंने कहा, “पंजाब सरकार ने उचित कारण से मेरा नाम हटाया है, इसमें सरकार की कोई गलती नहीं है। मीडिया से मेरा अनुरोध है कि अटकलें न लगाएं।”

पिछले साल खेल रत्न के लिए हरभजन का नामांकन देर से भेजे जाने के कारण खेल मंत्रालय ने उनका नामांकन खारिज कर दिया था। इस पर स्पष्टीकरण देते हुए उन्होंने ट्वीट किया, “खेल रत्न के लिए मेरे नामांकन के बारे में तरह तरह की अटकलें लगाई जा रहीं हैं इसलिए मैं स्पष्ट करना चाहता हूँ कि पिछले साल मेरा नामांकन देर से भेजा गया था, लेकिन इस साल मैंने ही पंजाब सरकार से मेरा नामांकन वापस लेने के लिए कहा क्योंकि मैं 3 साल की योग्यता मानदंडों के तहत नहीं आता हूँ। अटकलें ना लगाई जाएं।”

पंजाब के खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढी ने कहा, “हमनें हरभजन का नामांकन भेजा था लेकिन इससे पहले कि वह चयन समिति के पास जाता, उन्होंने हमसे नामांकन वापिस लेने के लिए कहा। मुझे लगता है कि उन्होंने खेल रत्न के लिये भारत सरकार के मानदंड देखे होंगे या उन्हें ऐसा लगा होगा वह खेल रत्न की पात्रता के दायरे में नहीं आते। वह हमसे जब भी कहेंगे, हम उनके नाम की अनुशंसा करेंगे क्योंकि वह शानदार खिलाड़ी और बेहतरीन इंसान हैं।”

40 वर्षीय हरभजन, फैंस और साथी क्रिकेटरों के बीच ‘भज्जी’ नाम से मशहूर हैं। वह 2007 के टी 20 विश्व कप और 2011 के विश्व कप जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा थे। 417 विकेटों के साथ वह अनिल कुंबले(619) और कपिल देव(434) के बाद टेस्ट क्रिकेट में भारत के तीसरे सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। उन्होंने 103 टेस्ट, 236 वनडे और 28 टी20 इंटरनैशनल मैच खेले हैं।

उन्हें अर्जुन पुरस्कार और देश के चौथे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म श्री से नवाजा जा चुका है। उन्होंने टेस्ट और वनडे में अंतिम बार 2015 में भारत का प्रतिनिधित्व किया है। वह करीब 4 साल से टीम इंडिया से बाहर हैं।


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply