दुनिया की सबसे लंबी ‘Atal Tunnel’ को प्रधानमंत्री मोदी ने दिखाई हरी झंडी, जानिए खासियत…

दुनिया की सबसे लंबी 'Atal Tunnel' को प्रधानमंत्री मोदी ने दिखाई हरी झंडी, जानिए खासियत...
दुनिया की सबसे लंबी ‘Atal Tunnel’ को प्रधानमंत्री मोदी ने दिखाई हरी झंडी, जानिए खासियत…(Image credit: Mint)

भारत-चीन सीमा पर तनाव के बीच प्रधानमंत्री मोदी ने आज दुनिया की सबसे लंबी हाईवे टनल का उद्घाटन किया है। देश के प्रधानमंत्री ने 10 हजार फुट की ऊंचाई पर बनी ऐतिहासिक ‘अटल टनल’ (रोहतांग) राष्ट्र को समर्पित कर, हरी झंडी दे दी है। यह भी पढ़े: भारतीय जवानों को लेकर चीनी सैनिकों में घबराहट, रोते हुए हुआ वीडियो वायरल

इसके साथ ही अब से अटल टनल रोहतांग वाहनों की आवाजाही के लिए खुल गई है। गौरतलब है कि, हिमाचल प्रदेश के कुल्लु मनाली और लाहौल-स्पिति जिले में बनी 9 किलोमीटर लंबी इस सुरंग का काम पिछले 10 सालों से चल रहा था। यह भी पढ़े: संयुक्त राष्ट्र महासभा में महिलाओं पर चौथे विश्व सम्मेलन को संबोधित करते हुए बोलीं स्मृति ईरानी, महिलाओं की सुरक्षा के लिए सरकार ने किए कई उपाय

विश्व भर में सबसे ऊंची टनल

अटल टनल रोहतांग विश्व भर की ऊंचाई में बनाई गई हाइवे टनल में सबसे ऊंची टनल है। अटल टनल 10 हजार फुट की ऊंचाई पर बनी है जो 9.02 किलोमीटर लंबी है। टनल निर्माण पर करीब 3300 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। यह भी पढ़े: अमिता वरुण का 17वीं बार हुआ ट्रांसफर, 2018 में इलाहाबाद कोर्ट ने बताया था इसे “सत्ता का खेल”

टनल का निर्माण कार्य वर्ष 2010 में शुरू हुआ था व 10 साल बाद निर्माण कार्य पूर्ण हुआ है। इस टनल से मनाली-लेह के बीच 46 किलोमीटर सफ़र कम हो जाएगा व सर्दियों में सेना के मार्ग में रोहतांग दर्रा भी बाधा नहीं बनेगा।

लद्दाख से 12 महीने जुड़ा रहेगा देश

टनल के बनने से हिमाचल प्रदेश का लाहौल-स्पिति इलाका और पूरा लद्दाख अब देश के बाकी हिस्सों से 12 महीने जुड़ा रहेगा। क्योंकि रोहतांग-पास‌ (दर्रो) सर्दियों के मौसम में भारी बर्फबारी के कारण बंद हो जाता था, जिससे लाहौल-स्पिति के जरिए लद्दाख जाने वाला हाईवे छह महीने के लिए बंद हो जाता था।

लेकिन अब अटल टनल बनने से इससे निजात मिल जाएगी। अटल टनल, रोहतांग के बनने से अब लद्दाख तक भारत की 12 महीने तक सीधे पहुंच हो गई है।

टनल में हैं सुरक्षा के विशेष इंतजाम

अटल टनल, रोहतांग में सुरक्षा की दृष्टि से हर 500 मीटर के बाद आपातकाल द्वार रखा गया है। यही नहीं हर 150 मीटर की दूरी पर टेलीफोन बूथ की सुविधा भी है। 4 जी की सुविधा उपलब्ध करवाई गई है। सुरक्षा की दृष्टि से टनल में सी सी टी वी कैमरों की विशेष व्यवस्था की गई है। इसके साथ ही आग लगने की स्थिति में सुरंग के अंदर फायर हाइड्रेंट भी लगाए गए हैं।

प्रधानमंत्री ने किया उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अटल टनल, रोहतांग का उद्घाटन किया। जिसके बाद उन्होंने अंदर जाकर अटल टनल, रोहतांग का दौरा भी किया। मोदी ने अकेले ही अंदर जाकर टनल का भ्रमण किया। इसके अलावा उन्होंने टनल के अंदर जाकर हर छोटी बड़ी जानकारी ली।


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply