अब डॉक्टर्स की जगह रोबोट्स कर रहे हैं कोरोना अस्पतालों में मरीजों की देखभाल

robotina in mexico
अब डॉक्टर्स की जगह रोबोट्स कर रहे हैं कोरोना अस्पतालों में मरीजों की देखभाल (Image Credit: Navbharat Times)

कोरोना महामारी हम सभी के सामने किसी जंग से कम नहीं है। खास तौर पर देश के डॉक्टर्स, पुलिसकर्मी, जर्नलिस्ट्स, सफाईकर्मी इन सभी का इस जंग में बहुत बड़ा योगदान रहा है। कोरोना संक्रमण की वजह से बहुत से लोगो ने अपने जानें भी गंवाई हैं। कोरोना महामारी के इस दौर में डॉक्टर्स को भी बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। कई डॉक्टर्स ने तो अपनी जानें भी गंवा दी हैं। कोरोना संक्रमण तेज़ी से बढ़ने की वजह से सभी अस्पताल भरे हुए हैं। अस्पताल में बेड्स खाली ना मिलने की वजह से कोरोना संक्रमित लोगों को अन्य जगह, जैसे किसी कॉलेज, स्कूल, बड़े-बड़े सेंटर्स में आइसोलेट किया जा रहा है।

कोरोना महामारी के इस दौर के चलते मेक्सिको देश के एक अस्पताल में रोबोट इंस्टॉल किया गया है। इंडिया टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, इस रोबोट का नाम रोबोटिना रखा गया है। यह रोबोट ना केवल कोरोना संक्रमित लोगों की देखभाल करता है, बल्कि उन्हें एंटरटेन भी करता है। इस रोबोट की विशेष बात यह है कि इसमें व्हील्स भी लगे हुए हैं, जिस से यह पूरे अस्पताल में घूमता है। डॉक्टर्स और कोरोना संक्रमित मरीजो के बीच संपर्क भी स्थापित करता है। साथ ही इसमें एक कैमरा और डिसप्ले भी लगा हुआ है। इस रोबोट के जरिए मरीज अपने परिवार वालों को देख सकते हैं।

अस्पताल की कोऑर्डिनेटर सैंड्रा मुनोज़ का कहना है कि, रोबोटीना हमें मरीज़ के मानसिक स्वास्थ्य सही रखने में मदद करता है। रोबॉटिना मरिजों से दूरी बनाकर रखता है।” लूसिया लेडेस्मा जो एक न्यूरोपैथोलॉजिस्ट हैं, उन्होंने 20 नवंबर को हुए नेशनल मेडिकल सेंटर में कहा कि, “यह रोबोट हमे एक भौतिक उपस्थिति की अनुमति देता है। कोविड एरिया में इस रोबोट की मौजूदगी ही कोरोना संक्रमितों को हिम्मत देती है।”

मेक्सिको के अस्पताल में भर्ती एक 55 वर्षीय महिला का कहना है कि, “जैसा कि हमारे परिजन अस्पताल में प्रवेश नहीं कर सकते हैं, लेकिन इस रोबोट के जरिए वे हमें देखते हैं और हम उन्हें देखते हैं। यह रोबोट हमें खुश रखता है।”

इंडियन एक्सप्रेस में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, जुलाई महिनें में हमारे देश में भी ऐम्स के कोविड कक्ष में रोबोट टेस्ट किया गया था। रोबोट बनाने वाली कंपनी ‘मिलग्रो’ के फाउंडर राजीव करवाल ने बताया कि ऐम्स में हैल्थ वर्कर्स और कोविड वार्ड में यह रोबोट इंस्टॉल किए जाएंगे।


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *