पूरे देश में तेज रफ्तार के साथ बढ़े कोरोना ग्रसित मरीज़

24 मार्च से 28 मार्च के बीच कोरोना ग्रसित मरीजों की संख्या के तेजी से बाद रही है। इसी वजह से सरकार ने सोमवार से लॉकडाउन और कर्फ्यू में ज्यादा सख्ती बरतने का फैसला लिया है। शहरों और प्रदेशों कोराना ग्रसित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। प्रदेशों में महाराष्ट्र सबसे आगे चल रहा है। बीते चार दिनों में 130 फीसदी की तेजी से ये संक्रमण महाराष्ट्र में फैला है। महाराष्ट्र में 24 मार्च को 91 मरीज थे तो वहीं 28 मार्च तक 210 मरीज हो गए, इन चार दिनों के अंदर 119 मरीज बड़े है। वहीं केरल में 88 फीसदी की रफ्तार से मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। यहां 24 मार्च को 99 मरीज थे और 28 मार्च को 187 मरीज, इन चार दिनों में 88 नए मरीज आए है।

image: the economic times
  • यूपी में 24 मार्च को 44 मरीज और 28 मार्च को 66 मरीज मिले है, इन चार दिनों में 22 नए मामले सामने आए है।
  • कर्नाटक में 24 मार्च को 41 मरीज और 28 मार्च को 60 मरीज मिले, चार दिनों में 19 नए मरीज आए है।
  • राजस्थान में 24 मार्च को 35 मरीज और 28 मार्च को 57 मरीज मतलब सीधे 22 मरीज बड़े है।
  • गुजरात में 24 मार्च को 34 मरीज और 28 मार्च को 58 मरीज, चार दिनों के अंदर 24 नए आए।
  • दिल्ली में 24 मार्च को 30 मरीज और 28 मार्च को 46 मरीज 8 नए मरीज आए।
  • पंजाब में 24 मार्च को 30 मरीज और 28 मार्च को 40 मरीज, नए मरोजो की संख्या 10 है।
image: Amar Ujala

मध्यप्रदेश के इंदौर में मरीजों की संख्या प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। मध्यप्रदेश में 24 मार्च को 7 मरीज थे, जो 28 मार्च को बढ़कर 39 हो गए है, चार दिन के अंदर 457 फीसदी की वृद्धि से 32 मरीज और बड़ गए है। वहीं पूरे देश में सबसे अधिक तेजी से मरीजों की संख्या इंदौर में पाई जा रही है। आकड़ो के अनुसार 24 मार्च को 5 मरीज मिले थे जो 28 मार्च को बड़ कर लगभग 25 तक पहुंच गए है, जिनमें से 2 की मृत्यू हो चुकी है। इन चार दिनों में 19 नए मामले सामने आए है। इंदौर में 380 की रफ्तार से मरीजों की वृद्धि हो रही है। इंदौर के माहौल को देखते हुए, प्रशाशन ने पूरी तरह से लॉकडाउन लगा दिया है। इस बीच किराने की दुकान, दूध डेयरी, सब्जियों की दुकान, दवाइयों की दुकान सभी बंद रहेगी। इस दौरान यदि किसी को अति आवश्यक सामान की आवश्यकता है, तो वो सुविधा सरकार द्वारा घर तक पहुंचाई जाएगी

1 Comment

Leave a Reply