मध्य प्रदेश के बैतूल में एक शख्स ने दो युवतियों से की शादी, जिला प्रशासन ने दिए जांच के आदेश

फिल्मों और टीवी सीरियल्स में हम अक्सर देखते हैं कि किसी शख्स की दो पत्नियां होती हैं, लेकिन अब ऐसा हकीकत में हुआ है। मध्य प्रदेश के बैतूल जिले में ऐसी ही एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है। यहां एक शख्स ने एक साथ दो युवतियों से शादी की। इस कार्यक्रम में दूल्हे व दोनों दुल्हनों के परिवारवालों के साथ गांव के लोग भी शामिल हुए और पूरे रीति-रिवाज के साथ शादी हुई। इस शादी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। यह मामला मध्य प्रदेश के बैतूल जिला मुख्यालय से करीब 40 किलोमीटर दूर विकासखंड घोड़ाडोंगरी के तहत आने वाले केरिया गांव का है, जहां 8 जुलाई को एक ही मंडप में एक दूल्हे ने दो दुल्हनों से शादी रचाई। जिला प्रशासन अब इस बात की जांच कर रहा है कि यह शादी कैसे हुई।

Madhya Pradesh Man Marries Two Women at Same Time, Family-Villagers Join Wedding Rituals
Image Credit : India.com

दोनों युवतियों से एक साथ की शादी

जानकारी के मुताबिक, केरिया गांव के आदिवासी युवक संदीप उईके ने होशंगाबाद जिले की एक युवती और घोड़ाडोंगरी तहसील के कोयलारी गांव की एक दूसरी युवती से एक साथ विवाह किया। संदीप भोपाल में रहकर पढ़ाई कर रहा था और इस दौरान होशंगाबाद की एक युवती से उसकी दोस्ती हो गई। इस बीच, घरवालों ने कोयलारी गांव की एक दूसरी युवती के साथ उसकी शादी तय कर दी। इसके बाद शादी को लेकर परिवार में विवाद होने लगा।

पंचायत के फैसले पर हुई शादी

विवाद को खत्म करने के लिए तीनों परिवारों और गांव के लोगों ने पंचायत बुलाई। सूत्रों के मुताबिक, पंचायत में फैसला हुआ कि अगर दोनों युवतियां एक साथ युवक के साथ रहने के लिए तैयार हैं, तो दोनों की शादी उससे करा दी जाए। इस पर दोनों लड़कियां युवक से शादी करने के लिए राजी हो गईं। इसके बाद केरिया गांव में शादी समारोह का आयोजन हुआ और युवक ने एक ही मंडप में दोनों युवतियों के साथ सात फेरे लिए। इस शादी में दूल्हा-दुल्हन के परिवारों के साथ-साथ गांव के लोग भी शामिल हुए। यह पहला मौका था जब एक मंडप में एक दूल्हा और दो दुल्हनें थीं।

तहसीलदार ने दिए जांच के आदेश

इस शादी में शामिल हुए घोड़ाडोंगरी जनपद पंचायत के उपाध्यक्ष मिश्रीलाल परते ने बताया कि केरिया गांव के युवक ने दो युवतियों के साथ सात फेरे लिए हैं। तीनों परिवारों को इस शादी से कोई ऐतराज नहीं था और उन्होंने समाज के वरिष्ठ लोगों के साथ बैठक करके ऐसा करने का फैसला किया। उसी के बाद युवक की शादी दोनों युवतियों से कराई गई। कोरोना महामारी के संक्रमण के कारण इन दिनों किसी भी तरह के समारोह के आयोजन के लिए प्रशासन से इजाजत लेना जरूरी है। हालांकि घोड़ाडोंगरी की तहसीलदार मोनिका विश्वकर्मा का कहना है कि हमारी तरफ से ऐसी किसी शादी के लिए इजाजत नहीं दी गई है। यह शादी बिना अनुमति लिए हुई है और हम एक अधिकारी को भेजकर मामले की जांच करा रहे हैं।


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *