हवाई सफर में अब मास्क पहनना होगा जरूरी, नहीं चलेगी लापरवाही

बीते एक साल से पूरी दुनिया कोरोना वायरस से जूझ रही है। इस वायरस ने लोगों की जिंदगी और जीने के तरीकों में खासा बदलाव ला दिया है। लोग साफ-सफाई और व्यक्तिगत स्वच्छता को लेकर काफी सतर्क हो गए हैं। कोरोना संक्रमण के मामले फिर से बढ़ने लगे हैं, ऐसे में सरकार की ओर से किसी भी तरह की यात्रा में लोगों को सावधानी बरतने की हिदायत दी जा रही है। आने वाले दिनों में हवाई यात्रा को लेकर भी आपको खासी सावधानियां बरतनी पड़ेगीं।

WHO to travellers: Keep an eye on COVID-19 'anywhere and everywhere', World  News | wionews.com
Image Credit : Wion News

डीजीसीए ने जारी किए दिशानिर्देश

नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने हवाई यात्रा के लिए नए नियम जारी किए हैं। इन नियमों की अनदेखी पर डीजीसीए सख्त कार्रवाई करने की तैयारी में हैं। दरअसल, देश में कोरोना वायरस महामारी के फिर से बढ़ते मामलों को लेकर डीजीसीए ने नए दिशानिर्देश जारी किए हैं। अगर यात्री विमान में मास्क नहीं पहनते हैं और साथ ही महामारी के दिशानिर्देशों का उल्‍लंघन करते हैं तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। अगर यात्री बार-बार इन नियमों का उल्लंघन करते पाए जाएंगे तो उनके हवाई सफर पर लंबी पाबंदी भी लगाई जा सकती है।

सोशल डिस्टेंसिंग का करना होगा पालन

डीसीजीए की ओर से जारी किए गए सर्कुलर में कहा गया है कि एयरपोर्ट में दाखिल होने के बाद से लेकर बाहर निकलने तक यात्रियों को मास्क पहनना अनिवार्य होगा। सर्कुलर में यह भी कहा गया है कि हवाई सफर के दौरान जो यात्री सोशल डिस्टेंसिंग (सामाजिक दूरी) और कोरोना के दिशानिर्देशों का पालन नहीं करेंगे उन्हें विमान से उतार दिया जाएगा। इसके साथ ही जो लोग अपनी यात्रा के दौरान बार-बार नियमों का उल्लंघन करते पाए जाएंगे, उन्हें ‘उपद्रवी यात्री’ करार दे दिया जाएगा और उनके हवाई सफर पर प्रतिबंध लगा दिया जाएगा।

क्या कहता है डीजीसीए का सर्कुलर

  • हवाई सफर के दौरान मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य।
  • मास्क को तब तक नाक के नीचे नहीं किया जा सकता है, जब तक कि कोई अपवाद की स्थिति न हो।
  • एयरपोर्ट में यात्री के प्रवेश के दौरान सीआईएसएफ या अन्‍य पुलिस कर्मचारी यह सुनिश्चित करेंगे कि कोई भी बिना मास्‍क के अंदर न आ पाए।
  • एयरपोर्ट डायरेक्‍टर/टर्मिनल मैनेजर यह सुनिश्चित करेंगे कि सभी यात्रियों ने हमेशा ठीक से मास्क लगाया हुआ हो और साथ ही वे सही तरीके से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।
  • एयरपोर्ट परिसर या विमान में अगर कोई यात्री कोरोना नियमों का पालन नहीं करता है तो उसे चेतावनी देकर छोड़ दिया जाएगा। हालांकि सर्कुलर में कहा गया है कि बार-बार नियमों के उल्लंघन पर कानून के मुताबिक, कार्रवाई की जा सकती है।
  • विमान के उड़ान भरने से पहले उसमें बैठा कोई यात्री अगर चेतावनी के बाद भी ठीक से मास्‍क नहीं पहनता तो उसे नीचे उतार दिया जाएगा.
  • यात्रा के दौरान अगर कोई यात्री बार-बार मास्‍क पहनने से इनकार करता है और कोरोना के प्रोटोकॉल का पालन नहीं करता तो उसके साथ ‘उपद्रवी यात्री’ की तरह व्‍यवहार किया जाए।
  • उपद्रवी यात्री की लिस्ट में आने वाले लोगों की हवाई यात्रा पर पाबंदी लगाई जाएगी। नए नियमों के अनुसार, यह बैन 6 महीने, 1 साल, 2 साल या फिर इससे ज्‍यादा भी हो सकता है।

Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *