गलवान घाटी में शहीद की पत्नी को सरकार ने दी नौकरी

पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में 15-16 जून की रात भारत चीन के बीच हुई हिंसक झड़प में ,भारत ने अपने 20 शहीद खोये तो वहीं चीन के 43 सैनिक भी मारे गए।

तमिलनाडु के सैनिक पलानी उन 20 जवानों में शामिल थे, जो 15 जून को गलवान घाटी में चीनी सैनिकों से लड़ते हुए शहीद हो गए थे। जिस पर अब तमिलनाडु सरकार ने अपना वादा निभाते हुए शहीद के पत्नी को नौकरी दी है।

दरअसल, जून में तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी ने शहीद पलानी के परिवार के लिए 20 लाख रुपये और दिवंगत सैनिक के परिवार के सदस्यों में से एक को सरकारी नौकरी देने की घोषणा की थी।

जिसके बाद अब पलानी की पत्नी पी. वनाथी देवी को जूनियर असिस्टेंट टिन रमानाथपुरम के रूप में नियुक्त किया गया है। जहां मुख्यमंत्री ने कई परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इसके इतर 20 लाख रुपये का चेक पहले ही परिवार को सौंप दिया गया था।

इसके साथ ही शहीद हुए पलानी तमिलनाडु के रामनाथपुरम के कडुखूर गांव के थे और उन्होंने 22 साल तक भारतीय सेना की सेवा की थी। शहीद हमेशा से ही उस क्षेत्र में लोगों के लिए प्रेरणा का स्रोत रहे हैं। कई युवा लड़कों ने उनके नक्शेकदम पर चलते हुए भारतीय सेना में सम्मलित होने का निर्णय किया है।

शहीद के 2 बच्चे, एक 12 साल का बेटा और एक 8 साल की बेटी। रिपोर्ट के अनुसार, उनकी पत्नी वनवती देवी डिग्री धारक हैं और अनुकंपा मिलने से पहले रामनाथपुरम जिले के एक कॉलेज में क्लर्क के तौर पर काम करतीं थीं। इसके पहले भी गलवान घाटी के शहीदों के परिवार को नौकरी दी है।


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *