लॉकडाउन के बीच पिता का 100वां जन्मदिन मनाने आई बेटी, केक लेकर पहुंची दिल्ली पुलिस

कोरोना वायरस के कारण लगाए गए लॉकडाउन को एक बार फिर 17 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है। लॉकडाउन के कारण लोग अपने घरों में कैद हैं, लेकिन फिर भी संक्रमण के मामलों में कमी आती नहीं दिख रही है। हालांकि लॉकडाउन के बीच राजधानी दिल्ली से एक अच्छी खबर आई है। यहां रहने वाले एक बुजुर्ग को उनके 100वें जन्मदिन पर एक ऐसा सरप्राइज मिला, जिसने उनके इस खास दिन को और भी खास बना दिया। केके मेहरा नाम के इस बुजुर्ग को लॉकडाउन के बीच अपनी बेटी पूर्णिमा खन्ना और उनके परिवार के साथ जन्मदिन मनाने का सुनहरा मौका मिला और इसका श्रेय जाता है दिल्ली पुलिस को।

Purnima Khanna  (standing) with her father K. K. Mehra and younger sister Meera Malhotra.
Image Credit : Hindustan Times

बुजुर्ग के परिवार ने जताया पुलिस का आभार

गुरुवार को जिंदगी के 100 साल पूरे करने वाले केके मेहरा के जन्मदिन पर दिल्ली पुलिस ने उनकी बेटी के परिवार को कर्फ्यू पास जारी किया ताकि वे उनका जन्मदिन मना सके। इतना ही नहीं, नेताजी सुभाष पैलेस के एसएचओ अमित कुमार तिवारी अपनी टीम के साथ केक लेकर बुजुर्ग के घर पहुंच गए और उनके जन्मदिन को यादगार बना दिया। इसके अलावा पुलिसकर्मियों ने वीडियो कॉल करके केके मेहरा को जन्मदिन की बधाई भी दी। पुलिसवालों के इस सरप्राइज से बुजुर्ग काफी भावुक हो गए और उन्होंने सभी का आभार भी जताया। बुजुर्ग का परिवार भी इस मुश्किल वक्त में और लॉकडाउन के बीच उनके पास आकर काफी खुश हुआ और पुलिसकर्मियों की इस कोशिश के लिए उन्हें धन्यवाद दिया।

Cops handing the cake to Khanna.
Image Credit : Hindustan Times

बेटी ने मांगी थी पिता के पास जाने की इजाजत

बुजुर्ग की बेटी पूर्णिमा खन्ना ने इस बाबत बताया कि उन्होंने दिल्ली के पुलिस कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव से अपने पिता के जन्मदिन पर परिवार सहित उनके घर जाने की इजाजत मांगी थी। इसके बाद पुलिस की तरफ से उन्हें फोन आया और पिता के पास जाने की इजाजत मिल गई। इसके बाद वह अपने पिता के घर गईं और अपनी बहन मीरा मल्होत्रा के साथ उनका जन्मदिन मनाया। उनकी बहन पिता के घर के पास ही रहती हैं।

लॉकडाउन के बीच ऐसे देश के कई हिस्सों से ऐसे वाकये सामने आ चुके हैं जहां पुलिसवाले अकेले रह रहे बुजुर्गों या छोटे बच्चों  के जन्मदिन पर केक लेकर उनके घर पहुंच गए और उनके इस खास दिन को यादगार बना दिया। कोरोना वायरस से लड़ने में जहां डॉक्टर, नर्स एक अहम भूमिका निभा रहे हैं, वहीं इन दिनों पुलिस का मानवीय चेहरा भी सामने आ रहा है और आम लोग ऐसे कामों के लिए उनकी तारीफ कर रहे हैं।


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *