ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का हुआ सफलतापूर्वक परीक्षण, 400 किलोमीटर से ज्यादा दूरी तक का टारगेट कर सकता है ध्वस्त

BrahMos supersonic cruise missile successfully test, it can be destroyed over 400 km target
ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का हुआ सफलतापूर्वक परीक्षण, 400 किलोमीटर से ज्यादा दूरी तक का टारगेट कर सकता है ध्वस्त

भारतीय नौसेना के स्वदेशी स्टील्थ डिस्ट्रॉयर आईएनएस चेन्नई से ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का आज यानी रविवार को सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया। परीक्षण के दौरान मिसाइल ने अरब सागर में एक लक्ष्य पर निशाना लगाया। मिसाइल ने इस लक्ष्य को बेहद सटीकता से मारा गया है।

ब्रह्मोस प्राइम स्ट्राइक हथियार के रूप में 400 किलोमीटर से ज्यादा दूरी तक निशाना बनाकर टारगेट को ध्वस्त कर सकता है। दिन-रात या किसी भी मौसम में समुद्र या सतह पर नेवल सर्फेस लक्ष्यों को लंबी दूरी तक निशाना बनाकर भारतीय नौसेना को एक और घातक मंच बना देगा। बता दें कि ओडिशा के बालासोर में इस मिसाइल का बुधवार को सफल प्रायोगिक परीक्षण किया गया था। यह भी पढ़ें: फ्रांस में पैगम्बर मोहम्मद का कार्टून दिखाने पर टीचर का सिर कलम, हत्यारा मारा गया

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन के सूत्रों ने बताया कि, यहां पास में चांदीपुर स्थित एकीकृत परीक्षण केंद्र से अत्याधुनिक मिसाइल का प्रक्षेपण किया गया जो सफल रहा। डीआरडीओ के एक अधिकारी ने बताया कि मिसाइल को समुद्र, जमीन और लड़ाकू विमानों से भी दागा जा सकता है।

गौरतलब है कि, मिसाइल के पहले विस्तारित संस्करण का सफल परीक्षण 11 मार्च 2017 को किया गया था, जिसकी मारक क्षमता 450 किलोमीटर थी। यह भी पढ़ें: इस आईपीएस अफसर ने बताया अपनी 1 मिलियन डॉलर से भी ज्यादा की कमाई का राज

जिसके बाद 30 सितंबर 2019 को चांदीपुर स्थित आईटीआर से कम दूरी की मारक क्षमता वाली ब्रह्मोस मिसाइल के जमीनी संस्करण का सफल परीक्षण किया गया था। इसके अलावा सुपरसोनिक ब्रह्मोस क्रूज मिसाइल को भारत और रूस के संयुक्त उपक्रम के तहत विकसित किया गया है।

वहीं, रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल को पनडुब्बियों, जहाजों, विमानों, या अन्य प्लेटफार्मों से लॉन्च किया जा सकता है। यह नौसेना के ज़मीनी ठिकानों पर हमले की ताकत को कई गुणा बढ़ा देगा। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ), ब्रह्मोस एयरोस्पेस और भारतीय नौसेना को मिसाइल के ‘सफल’ परीक्षण के लिए बधाई दी।

डीआरडीओ के अध्यक्ष जी. सतीश रेड्डी ने भी वैज्ञानिकों और मिसाइल के परीक्षण में शामिल सभी कर्मियों को बधाई दी। यह भी पढ़ें: दुबई से आए यात्रियों की तलाशी में प्राइवेट पार्ट्स से बरामद हुआ चार किलो से ज्यादा सोना, कीमत जानकर उड़ जाएंगे होश


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *