बीजेपी विधायक का शव फंदे पर लटका मिला, बीजेपी ने जताई तृणमूल मूल कांग्रेस पर हत्या की आशंका

पश्चिम बंगाल के नॉर्थ दिनाजपुर में उस समय कोहराम मच गया, जब हेमताबाद से विधायक देबेंद्रनाथ रॉय का शव एक बंद चाय की दुकान के बाहर लटका मिला। देवेंद्रनाथ भारतीय जनता पार्टी के विधायक थे। यह घटना तब हुई जब देबेंद्रनाथ अपने पैतृक गांव बिंडोल गए हुए थे। हत्या है या आत्महत्या, इस बात पर पुलिस ने भी चुप्पी साध रखी है। जांच के बाद ही घटना का खुलासा हो सकेगा।

पश्चिम बंगाल में भाजपा नेताओं की हत्या कोई नई बात नहीं है। ऐसी कई घटनाएं पहले भी सामने आई है जहां भाजपा नेताओं पर खुलेआम हमला किया गया। कई घटनाओं में देबेंद्रनाथ की ही तरह हत्या भी कर दी गई थी।

भाजपा नेता कार्यकर्ता अब राज्य में असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। भाजपा के राष्ट्रीय सचिव कैलाश विजयवर्गीय ने फेसबुक के जरिए एक विचलित कर देने वाला वीडियो भी शेयर किया जिसमें देवेंद्रनाथ का शव फंदे से लटका हुआ है।

देबेंद्रनाथ के परिवारजनों का कहना है कि यह आत्महत्या नहीं है, उनकी हत्या की गई है। परिवार वालों ने बताया कि, देबेंद्रनाथ को रविवार रात 1 बजे कुछ युवक बुलाने आए थे। इसके बाद देबेंद्रनाथ कहा गए किसी को नहीं पता। सवेरे 5 बजे जब स्थानीय लोगों की नजर देबेंद्रनाथ के लटके शव पर पड़ी तो लोगों के होश खुल गए। इसकी सूचना तुरंत पुलिस को दी गई। पुलिस ने देबेंद्रनाथ के शव को जब्त पर मर्ग कायम किया और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

हत्या होने की आशंका इसलिए भी जताई जा रही है क्योंकि फंदे से लटके देबेंद्रनाथ के हाथ रस्सी से बंधे हुए हैं। हाथ बंधे होने के बावजूद खुद फांसी के फंदे पर झूल जाना यह असम्भव ही है। हालांकि पुलिस को देबेंद्रनाथ की जेब से सुसाइड नोट बरामद हुआ है जिसमें 2 लोगों के नाम लिखे हुए हैं, जिन्हें मौत का जिम्मेदार ठहराया गया है। पुलिस की तरफ से नाम सार्वजनिक नहीं किए गए हैं, इसके अलावा अभी तक पुलिस ने सुसाइड नोट की प्रामाणिकता की पुष्टि नहीं की है। 

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, नोट में जिन दो नामों का उल्लेख है, उनसे पैसों का लेन-देन होने की बात कही गई है। स्थानीय लोगों ने बताया कि पैसों की तंगी के चलते देबेंद्र नाथ ने 6-7 बीघा जमीन बेच चुके हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही सच सामने आ सकेगा।

भाजपा नेता राहुल सिन्हा का कहना है कि, “यह आत्महत्या का नहीं बल्कि हत्या का मामला है, घटना की सीबीआई जांच की जानी चाहिए।” राहुल सिन्हा ने सीधा आरोप सीएम ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस पर लगाते हुए कहा कि, “इस वारदात के पीछे टीएमसी से जुड़े लोगों का हाथ है। जानबूझकर हत्या को आत्महत्या का रूप देने की कोशिश की गई है।” उन्होंने ममता बनर्जी से वारदात की तह तक जाने के लिए सीबीआई जांच कराने की मांग की है।

बीजेपी बंगाल ने ट्वीट कर कहा कि, “विधायक देबेंद्रनाथ का शव उनके पैतृक है बिंडल के नजदीक फांसी के फंदे पर लटका हुआ मिला। देबेंद्रनाथ उत्तरी दिनाजपुर के हेमताबाद से विधायक थे। साफ तौर पर लोगों का मानना है कि पहले देबेंद्रनाथ की हत्या की गई उसके बाद उनके शव को लटका दिया। उनका अपराध? यही की 2019 में उन्होंने बीजेपी में शामिल हो गए थे।” 

ज्ञात हो कि देबेंद्रनाथ ने हेमता बाद सीट से कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया पार्टी की टिकट से चुनाव लड़ा था। देबेंद्रनाथ ने इससे पहले सीपीएम की टिकट से पंचायत चुनाव लड़ते हुए हैट्रिक लगा चुके हैं। उनकी पत्नी चंदिमा रॉय पंचायत प्रमुख रह चुकी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *