अहमदाबाद के स्टार्ट-अप समेत 14 कंपनियों को मिला कोरोनावायरस की टेस्ट किट बनाने का लाइसेंस

कोरोनावायरस के बढ़ते खतरे के बीच एक सुखद खबर आई है। अहमदाबाद की एक डायग्नोस्टिक कंपनी CoSara Diagnostics भारत की पहली ऐसी स्टार्ट-अप कंपनी बन गई है जिसे केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (CDSCO) से COVID-19 टेस्ट किट बनाने का लाइसेंस मिल गया है। इसे अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन (FDA) से भी मंजूरी मिल चुकी है।

A lab runs coronavirus tests
Image Credit: Axios

14 कंपनियों को मिला लाइसेंस

CoSara Diagnostics के अलावा स्विट्जरलैंड की एक कंपनी समेत 13 निजी कंपनियों को कोरोनावायरस जांच किट की गुणवत्ता के मूल्यांकन का लाइसेंस दिया गया है। CDSCO के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। रोशे डायग्नोस्टिक्स इंडिया के अलावा बाकी 13 कंपनियां भारतीय हैं। इनमें चेन्नई की सीपीसी डायग्नोस्टिक्स भी शामिल है।

अमेरिकी कंपनी के साथ साझेदारी

इस टेस्ट किट को विकसित करने के लिए CoSara Diagnostics ने अमेरिकी कंपनी Co-Diagnostics के साथ साझेदारी की है। CDSCO द्वारा मंजूर की गई COVID-19 टेस्ट किट को मूल रूप से Co-Diagnostics ने ही तैयार किया है। यह पहली अमेरिकी कंपनी है जिसे COVID-19 के डायग्नोस्टिक के लिए CE मार्किंग मिली है। इस बारे में CoSara Diagnostics का कहना है कि Co-Diagnostics के साथ की गई इस साझेदारी के तहत वह इन टेस्ट किट्स को भारतीय बाजार में बेचने की तैयारी कर रही है। साथ ही इन किट्स को अन्य देशों को निर्यात भी किया जाएगा।

Co-Diagnostics के सीईओ Dwight Egan ने बताया कि पेटेंट की गई CoPrimer technology पर बनाई गई उच्च गुणवत्ता वाली इन टेस्ट किट्स का पूरे विश्व की स्वास्थ्य सेवाओं पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। उन्होंने कहा कि Co-Diagnostics सम्मानित महसूस कर रहा है कि उसके संयुक्त उद्यम को यह महत्त्वपूर्ण उपलब्धि हासिल हुई है।

52 केंद्रों पर भेजी जाएगी टेस्टिंग किट

CoSara Diagnostics ने खुद को 2014 में शुरू की गई ‘मेक इन इंडिया’ की पहल से भी जोड़ा है। इसका उद्देश्य भारत को एक वैश्विक डिजाइन और विनिर्माण केंद्र में बदलना है। कंपनी के डायरेक्टर मोहल साराभाई ने कहा कि सरकार ने कोरोनावायरस की जांच के लिए 52 केंद्र बनाए हैं। फिलहाल इन केंद्रों पर टेस्टिंग किट भेजना हमारी प्राथमिकता है। इसके अलावा वायरस की जांच करने वाली 60 निजी लैब्स में भी इन्हें पहुंचाया जाएगा।

पीएम ने की जनता कर्फ्यू की अपील

वहीं कोरोनावायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से अपील की है कि वे अपने घरों में रहें और इस वायरस के संपर्क में आने से बचें। उन्होंने 22 मार्च यानी रविवार सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक ‘जनता कर्फ्यू’ लगाने की अपील की और इस बीमारी से लड़ने में लोगों का सहयोग मांगा। उन्होंने कहा कि आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को छोड़कर कोई भी अपने घर से बाहर न निकले। यात्राओं से परहेज करें, सार्वजनिक स्थलों पर न जाएं और भीड़भाड़ से दूर रहें।


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *