बिहार: 15 साल की बेटी ने साइकिल पर घायल पिता को बिठाकर किया 1200 किमी का सफर तय

लाॅकडाउन लागू होने के कारण रोजाना लाखों प्रवासी मजदूर अपने घरों के लिए रवाना हो रहें हैं। कुछ मजदूर पैदल तो कुछ साइकिलों से, ट्रेन, बस, ट्रक में सवार हो कर अपने घर की ओर निकल पड़े हैं। हाल ही इन्हीं प्रवासी मजदूर की बेटी ने देश के लिए एक मिसाल पेश की है। बिहार की 15 वर्षीय बेटी ज्योति कुमारी ने लाॅकडाउन में अपने घायल पिता मोहन पासवान को साइकिल पर बिठाकर 8 दिनों में दिल्ली से दरभंगा तक 1200 किमी का सफर तय किया। ज्योति रोज 100-150 किमी सफर तय करती थी। जिसके दौरान कई गांवों में रहने वाले ग्रामीणों ने रास्ते में खाना-पानी पिलाकर उनकी मदद की।

साइक्लिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया की ओर से मिला ऑफर

ज्योति ने अपने पिता मोहन पासवान को साईकिल पर बिठाकर दिल्ली से सोमवार को सफर शुरू किया और अगले मंगलवार को साईकिल से दरभंगा पहुंच गई। जिसके बाद शुक्रवार को साइक्लिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के एक अधिकारी ने ज्योति के टैलेंट को देखकर उन्हें दिल्ली में राष्ट्रीय स्तर पर ट्रायल देने का ऑफर दिया। जिसका जबाव देते हुए ज्योति ने कहा – ”मुझे बहुत खुशी है कि मुझे ऑफर मिला, फिलहाल मैं बहुत थक गई हूँ। अगले महीने ट्रायल के लिए दिल्ली जाऊंगी।” ज्योति सरकारी मिडिल स्कूल कि 7वीं कक्षा की छात्रा है और इनकी उम्र महज 15 साल है।

ट्रम्प की बेटी इवांका ने भी की तारीफ

न्यूज एजेंसी ANI ने ट्विटर अकाउंट के हवाले से सभी को इस खबर के बारें में पता चला था। जिसके बाद ज्योति जल्द ही ट्विटर पर छा गई। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की बेटी इवांका ट्रम्प भी उनकी तारीफ करें बिना रह नहीं पाई और उन्होंने भी ट्वीट कर ज्योति की सराहना की।


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *