तिरुची में बारूद भरा मांस खिलाकर सियार की हत्या, 12 आरोपी गिरफ्तार

बीते दिनों में जानवरों के साथ हैवानियत की कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं। अब तमिलनाडु के तिरुची शहर से भी ऐसा ही एक मामला सामने आया है जहां वन विभाग ने एक सियार की हत्या के आरोप में नरिकुरवर समुदाय के 12 लोगों को गिरफ्तार किया है। वन विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, इन लोगों ने सियार को बारूदों से भरा मांस खिलाया, जिससे उसका जबड़ा फट गया और उसकी मौत हो गई।

Image Credit : New Indian Express

सियार के दांत और मांस के लिए की हत्या

केरल में पटाखों से भरा अनानास खाने से गर्भवती हथिनी की मौत का मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ था कि ऐसा ही एक और मामला तिरुची के जीयापुरम से भी आ गया। यहां नरिकुरवर समुदाय के लोगों ने सोमवार को एक सियार को बारूदों से भरा मांस खिला दिया। केरल में पटाखों से भरा अनानास खाने से गर्भवती हथिनी की मौत का मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ था कि ऐसा ही एक और मामला तिरुची के जीयापुरम से भी आ गया। यहां नरिकुरवर समुदाय के लोगों ने सोमवार को एक सियार को बारूदों से भरा मांस खिला दिया। कहा जा रहा है कि आरोपियों ने सियार के दांत और मांस के लिए उसकी हत्या की। एक वरिष्ठ वन अधिकारी के मुताबिक, ‘शरारती लोगों का एक समूह शहद की कटाई के लिए एक गांव में गया था। लौटते वक्त इन लोगों ने एक सियार को आसपास घूमते देखा। सियार का शिकार करने के लिए आरोपियों ने देसी बम का इस्तेमाल किया और उसे मांस में छिपाकर सियार को खिला दिया, जिससे उसकी मौत हो गई।’

पुलिस कॉन्स्टेबल ने किया मामले का खुलासा

इस घटना का खुलासा तब हुआ जब एक पुलिस कॉन्स्टेबल ने नरिकुकवर समुदाय के कुछ लोगों को एक दुकान पर चाय पीते देखा। कॉन्स्टेबल ने उनके पास एक बैग देखा, जिसमें सियार का शव था। वन अधिकारी ने आगे बताया, ‘जीयापुरम पुलिस स्टेशन के एक कॉन्स्टेबल ने नरिकुकवर समुदाय के लोगों को एक चाय की दुकान पर देखा। उनका शक भरा बर्ताव देखकर कॉन्स्टेबल ने उनसे पूछताछ की। शुरुआती छानबीन में पता चला कि उन्होंने एक सियार का शिकार किया है। इसके बाद कॉन्स्टेबल ने हमें इस बारे में जानकारी दी।’

मामले में 12 आरोपी गिरफ्तार

सियार की हत्या के मामले में पुलिस की ओर से गिरफ्तार किए गए 12 लोगों के नाम हैं- रामराज (21), सरवनन (25), येसूदास (34), शरतकुमार (28), देवदास (41), पांडियन (31), विजयकुमार (38), सत्यमूर्ति (36), शरतकुमार (26), राजमणिकम (70), राजू (45), पतमपिल्लई (78)। सभी आरोपी तिरुवेरुम्बूर के पास पुलंकुड़ी कॉलोनी के रहने वाले हैं। आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद वन अधिकारी इस बात का पता लगाने में जुटे हैं कि उनके पास देसी बम कहां से आए।


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *