न्यूजीलैंड की पीएम जेसिंडा अर्डर्न का दावा, हमने जीत ली कोरोना से लड़ाई

इस वक्त पूरी दुनिया कोरोना वायरस की महामारी से जूझ रही है। अमेरिका, इटली व चीन जैसे बड़े देशों में इस वायरस ने हजारों लोगों की जान ले ली है। वहीं एक देश ऐसा भी है जो कोरोना वायरस को मात देने में लगभग कामयाब हो गया है। यह देश है न्यूजीलैंड, जहां की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने देश से ‘कोरोना उन्मूलन’ की घोषणा करते हुए कहा है कि हमने यह लड़ाई जीत ली है, लेकिन फिर भी हमें सतर्क रहने की जरूरत है। पीएम अर्डर्न ने दावा किया है कि सरकार ने देश में कोरोना वायरस के सामुदायिक प्रसार (community transmission) को रोक दिया है। हालांकि इस वायरस को कैसे रोका गया, इस बारे में उन्होंने ज्यादा कुछ नहीं बताया है। न्यूजीलैंड में अभी तक कोरोना संक्रमण के 1500 मामले ही सामने आए हैं और 19 लोगों की मौत हुई है।

Image Credit : Indiatimes

लॉकडाउन में ढील देने की हो रही तैयारी

प्रधानमंत्री के इस ऐलान के बाद अब न्यूजीलैंड में लॉकडाउन में थो़ड़ी ढील देने की तैयारी की जा रही है। बीते कई दिनों में संक्रमण का कोई नया मामला नहीं आने पर पीएम अर्डर्न ने कहा कि देश अब सामान्य दिनचर्या में वापस आ सकता है। इस बीच गैर-जरूरी व्यवसाय, स्वास्थ्य सेवा कार्यालय और शिक्षा की गतिविधियों को फिर से शुरू किया जाएगा। हालांकि न्यूजीलैंड के नागरिकों को अब भी बेवजह अपने घरों से बाहर निकलने के लिए मना किया गया है। अर्डर्न ने यह भी कहा कि यह कोई नहीं जानता कि हालात पूरी तरह कब सामान्य होंगे। उन्होंने कहा, ‘मुझे पता कि सभी लोग अपनी सामाजिक गतिविधियों में वापस जाना चाहते हैं, लेकिन इसके लिए हमें धीरे-धीरे और सावधानी से आगे बढ़ना होगा।’

सामाजिक जीवन पर फिलहाल रहेगी पाबंदी

प्रधानमंत्री अर्डर्न ने एक सरकारी ब्रीफ़िंग में बताया, ‘हम अर्थव्यवस्था को खोल रहे हैं, लेकिन अभी हम लोगों के सामाजिक जीवन पर लगी पाबंदियों को पूरी तरह खत्म नहीं कर रहे हैं।’ न्यूजीलैंड में स्वास्थ्य मामलों के महानिदेशक एशले ब्लूमफील्ड ने कहा है कि हाल के दिनों में कोरोना के कम मामलों ने हमें यह भरोसा दिया है कि हमने कोरोना को खत्म करने का अपना लक्ष्य पूरा कर लिया है। हालांकि पीएम आर्डर्न ने यह भी साफ किया है कि वायरस को खत्म करने की घोषणा का मतलब यह नहीं है कि अब कोरोना संक्रमण का कोई मामला सामने नहीं आएगा। इसका मतलब है कि ऐसे मामले बहुत कम होंगे और सरकार इनसे निपट लेगी।

Image Credit : Indiatimes

ज्यादातर व्यावसायिक गतिविधियां होंगी शुरू

न्यूजीलैंड की सरकार ने सोमवार रात को लॉकडाउन के लेवल-4 से लेवल-3 में आने की घोषणा की। इसका मतलब है कि अब वहां ज्यादातर व्यावसायिक गतिविधियां शुरू हो जाएंगी। इनमें रेस्टोरेंट भी शामिल हैं, लेकिन उन्हें सिर्फ डिलिवरी की इजाजत दी गई है ताकि लोगों में सामाजिक दूरी बनी रहे। इसके साथ ही लोगों को अभी भी घर में ही रहने की सलाह दी गई है और कहा गया है कि वे दूसरों से दो मीटर की दूरी बनाकर रहें। देश में सामूहिक रूप के इकट्ठा होने पर अब भी रोक है। यहां शॉपिंग सेंटर भी बंद रहेंगे और ज्यादातर बच्चे स्कूल नहीं जा पाएंगे। न्यूजीलैंड की सीमाएं भी फिलहाल बंद रहेंगी।

सरकार ने वक्त रहते उठाए सख्त कदम

न्यूजीलैंड ने कोरोना वायरस के शुरुआती मामले आने पर ही कड़े कदम उठाने शुरू कर दिए थे। सरकार ने यातायात पर कड़ी पाबंदी लगा दी थी। न्यूजीलैंड ने काफी पहले ही अपनी सीमाएं बंद कर दी थीं और देश में आने वाले लोगों को क्वारंटीन में भेज दिया था। इसके साथ ही यहां लॉकडाउन को भी सख्ती से लागू किया गया। देश में कोरोना पॉजीटिव लोगों की ट्रेसिंग और टेस्टिंग को भी बड़े पैमाने पर और कारगर तरीक़े से लागू किया गया। पीएम अर्डर्न ने कहा कि अगर न्यूजीलैंड ने लॉकडाउन को वक्त पर लागू नहीं किया होता, तो उनके यहां भी रोजाना हजार मामले सामने आते। उन्होंने कहा कि देश कितनी बुरी स्थिति में होता, ये हम नहीं बता सकते, लेकिन कड़े और प्रभावी कदमों से देश ने खुद को बुरी स्थिति में पहुंचने से बचा लिया। दुनिया के दूसरे देशों को भी न्यूजीलैंड से सबक लेते हुए प्रभावी कदम उठाने चाहिए ताकि कोरोना वायरस को और तबाही मचाने से रोका जा सके।


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply