पाकिस्तान में मंदिर में घुसकर तोड़ी देवी-देवताओं की मूर्तियां, हिन्दू परिवारों को भी पीटा, पड़ोसीयों ने बचाई जान

पाकिस्तान में मुस्लिमों ने मंदिर में घुसकर तोड़ी देवी-देवताओं की मूर्तियां, हिन्दू परिवारों को भी पीटा, पड़ोसीयों ने बचाई जान
पाकिस्तान में मुस्लिमों ने मंदिर में घुसकर तोड़ी देवी-देवताओं की मूर्तियां, हिन्दू परिवारों को भी पीटा, पड़ोसीयों ने बचाई जान (image credit- india.com)

पाकिस्तान में हिंदुओं और उनके मंदिरों पर हो रहे हमले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। सिंध प्रांत के थारपारकर जिले में स्थित नागारपारकर में मंदिर में तोड़फोड़ के बाद अब कराची में कट्टरपंथियों की भीड़ ने प्राचीन मंदिर में जमकर तोड़फोड़ की।

दरअसल, यह घटना सिंध प्रांत के शीतल दास परिसर में मंगलवार को हुई। जिस दौरान उग्र भीड़ ने इस दौरान, हिंदू परिवारों पर भी हमले का प्रयास किया, लेकिन स्थानीय मुसलमानों के विरोध के चलते वह अपने मंसूबों में सफल नहीं हो सके। इस तरह से ढाल बनकर मुस्लिमों ने हिंदुओं की जान बचा ली। हालांकि इस दौरान मंदिर में रखी भगवान गणेश और श‍िवजी की मूर्तियों को भी कट्टरपंथियों ने तोड़ दिया। यह भी पढ़ें: बर्थडे पर न्यूड होकर दौड़ते दिखे मिलिंद सोमन, सोशल मीडिया पर वायरल हुई फोटो

यह है पूरा मामला

मंगलवार रात करीब नौ बजे कंपाउंड के द्वार पर मुस्लिम समुदाय के लोग एकत्रित होने लगे थे, उनमें बहुत से लोग वहां रहने वाले हिंदुओं पर हमले की बात कह रहे थे लेकिन शरारती तत्वों का यह समूह पहले कंपाउंड में बने मंदिर पर पहुंचा और वहां तोड़फोड़ करने लगा। इस दौरान शरारती तत्वों ने तीन देवी-देवताओं की मूर्तियों को खंडित कर दिया। यह भी पढ़ें: नंदबाबा मंदिर में नवाज के बाद अब शाही ईदगाह में पढ़ा गया हनुमान चालीसा, शांति भंग करने की आशंका में गिरफ्तार

एकता का उदहारण किया प्रस्तुत

इतना ही नहीं, उपद्रवियों ने हिंदू परिवारों पर हमले का प्रयास किया, लेकिन स्थानीय मुसलमानों के विरोध के चलते वह अपने योजनाओं में सफल नहीं हो सके। इस तरह मुसलमानों ने एकता का उदहारण प्रतुत किया है। यह भी पढ़ें: फिर विवादों में घिरे शक्तिमान, महिलाओं पर दी विवादित टिप्पणी

इलाके में रहते हैं 300 हिंदू परिवार

हालांकि मामले की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई थी, लेकिन तब तक इलाके में रहने वाले मुस्लिमों के प्रयासों के चलते दंगाई भाग निकले। बता दें कि शीतल दास परिसर में करीब 300 हिंदू परिवार और 30 मुस्लिम परिवार रहते हैं। घटना के वक्त हिंदू परिवारों के बचाव के लिए कंपाउंड में रहने वाले मुस्लिम समुदाय के लोग आगे आए। उन्होंने ऐसी हरकत करने वालों को रोका। यह भी पढ़ें: तीन सगी बहनों ने 1 ही पति के लिए रखा करवाचौथ का व्रत, सोशल मीडिया पर तस्वीरें हुईं वायरल


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *