टूटी हुई गर्दन के होते हुए राधिका ने बढ़ाया देश का गौरव

राधिका गुप्ता एक ऐसा नाम जो आज पहचान का मोहताज नहीं है। एडलवाइस एसेट मैनेजमेंट लिमिटेड में मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं राधिका गुप्ता के बारे में जब आप जानेंगे तो चौके बिना नहीं रह पाएंगे। हिम्मत और जज्बे की बेहतरीन मिसाल हैं राधिका गुप्ता।

Image result for radhika gupta
Image credit: SheThePeople.TV

इस महिला मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने बहुत सारी प्रतिकूलताओं पर न सिर्फ विजय पाई है बल्कि आज वो दुनिया में अपना सर उठाकर गर्व के साथ जी रहीं है। दोस्तों आपको जानकर यह हैरानी होगी कि राधिका गुप्ता का जन्म टूटी हुई गर्दन के साथ हुआ था। 

उनके जन्म के समय हुई जटिलताओ  ने राधिका  की गर्दन को एक स्थायी झुकाव के साथ छोड़ दिया, यह एक विशेषता थी  जो कई बार राधिका के आत्मसम्मान पर प्रभाव डालती थी, लेकिन आज के समय यही जटिलता उनके लिए  चीजों को अलग तरीके से करने के लिए प्रेरणा का स्रोत बन गई है।

यह है उपलब्धियां

आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि 36 साल की छोटी सी उम्र मे राधिका भारत की पहली घरेलू हेज फंड स्थापित करने वाली महिला बन चुकी है और साथ ही वह  एक प्रमुख संपत्ति प्रबंधक के रूप में देश की एकमात्र महिला प्रमुख बन गई है।

राधिका ने दिसंबर में कॉर्पोरेट ऋण के लिए भारत के पहले एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड को लॉन्च किया, इतना ही नहीं उन्होंने 2025 तक एडलवाइस एसेट मैनेजमेंट की क्लाइंट संपत्ति को $ 4 बिलियन से $ 40 बिलियन से अधिक करना उनकी महत्वाकांक्षी योजना का हिस्सा है।


यह भी पढ़े:

Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply