निगमकर्मी छुट्टी पर थे तो डॉक्टर खुद ट्रैक्टर चलाकर शव को ले गया श्मशान

निगमकर्मी नहीं आए तो डॉक्टर खुद ट्रैक्टर चलाकर शव को श्मशानघाट ले गया – सूचना

भारत में अब कोरोनावायरस बड़ी तेजी से पैर पसारने लगा है। दिन पर दिन इसके कारण होने वाली मौतों में इजाफा हो रहा है। जिसके कारण देश भर में शवों को जलाने या दफनाने के लिए कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इसी बीच तेलंगाना में एक सुखद दृश्य देखने को मिला है। जहाँ एक डॉक्टर ने कोरोनावायरस से पीड़ित शव को दफनाने के लिए श्मशानघाट तक ले जाने के लिए खुद ट्रैक्टर चलाकर दूसरों के समाने मानवता की मिशाल पेश की है।

डाॅक्टर का नाम डाॅ. श्रीराम है। जो तेलंगाना के पेद्दापल्ली के एक सरकारी अस्पताल में नोडल ऑफिसर हैं। रविवार को अस्पताल में 45 वर्षीय एक शख्स की मौत हो गई थी। जब श्रीराम को पता चला कि शव को दफनाने के लिए ले जाने वाला निगमकर्मी आज किसी कारणवश छुट्टी पर है तो श्रीराम ने खुद ट्रैक्टर चलाकर शव को श्मशानघाट तक ले जाने का फैसला किया। इस दौरान श्रीराम ने अपनी सुरक्षा का भी पूरा ध्यान रखा और बाॅडी सेफ्टी पीपीई किट पहनकर ट्रैक्टर चलाया ताकि वे भी सुरक्षित रहे। श्मशानघाट में विधिवत अंतिम संस्कार होने के बाद परिवार वालों को संतुष्टि मिली।

गाँव वालों और वित्त मंत्री ने की तारीफ

डाॅ. श्रीराम के इस काम के लिए उनके क्षेत्र के और गाँवो के लोगों ने काफी तारीफ की। गाँवो के लोगों ने श्रीराम की तारीफ करते हुए कहा कि डाॅक्टर ने जोखिमों के बाबजूद सभी रोगियों और परिवारों वालों की मदद कर पूरी ईमानदारी से अपना फर्ज निभाया। वहीं तेलंगाना के वित्त मंत्री टी हरीश राव ने भी श्रीराम के इस काम की प्रशंसा की। उन्होंने श्रीराम की प्रशंसा करते हुए ट्वीटर पर लिखा कि, डॉ श्रीराम को हार्दिक शुभकामनाएँ। आपने साबित कर दिया कि मानवता अभी भी जीवित है। आपने हमें मनुष्यों में ईश्वर का अनुभव कराया। आप उन सभी के लिए एक प्रेरणा हो, जो कोरोनावायरस के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं।

पड़ोसी राज्य में पिछले दो हफ़्तों में ऐसी तीन घटनाएं घटी

देश के अन्य राज्यों की तरह ही तेलंगाना के पड़ोसी राज्य आंध्रप्रदेश की है। जहाँ पिछले दो हफ्तों में तीन ऐसी घटनाएं घटित हुई हैं, जब निगमकर्मी ने कोरोनावायरस से पीड़ित शव को जलाने या दफनाने को गढ्ढे खोदने या स्थान बनाने के लिए बुलडोजर का उपयोग किया है। इस दौरान एक व्यक्ति ने इसकी वीडियो बनाकर वायरल कर दी। जिसके बाद राज्य में काफी आक्रोश हुआ। इस घटना के बाद, राज्य सरकार ने 6 अधिकारियों को निलंबित कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *