सरकार ‘प्रधानमंत्री जन सम्मान योजना’ के तहत सभी के खातों में डालेगी 90,000 रुपए? जानिए पूरी खबर

government-to-put-90000-rupees-in-everyones-accounts-under-pradhan-mantri-jan-samman-yojana-know-the-whole-news
सरकार ‘प्रधानमंत्री जन सम्मान योजना’ के तहत सभी के खातों में डालेगी 90,000 रुपए? जानिए पूरी खबर

क्या आपने कहीं पढ़ा, सुना या देखा है कि केंद्र सरकार के बैंक खातों में ‘प्रधानमंत्री जन सम्मान योजना’ के तहत 90,000 रूपये की धनराशि डाल रही है। यदि हाँ तो यह खबर आपके लिए बहुत जरूरी है। इस बात पर बिल्कुल भी भरोसा न करें। क्योंकि यह खबर पूरी तरह से फर्जी और नकली है। यह भी पढ़ें: राजमाता विजया राजे सिंधिया की जन्म शताब्दी के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने जारी किया 100 रूपए का सिक्का, ऐसा है सिक्का का स्वरूप

यह है पूरा मामला

दरअसल, आजकल सोशल मीडिया पर एक पोस्ट और उसके साथ एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस वायरल पोस्ट और वीडियो में यह दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार सभी के बैंक खातों में ‘प्रधानमंत्री जन सम्मान योजना’ के तहत 90,000 रुपए की राशि जमा कर रही है। यह भी पढ़ें:

अगर आपके पास भी इस तरह का कोई मैसेज आया है, तो कृपया करके सावधान हो जाएं। नहीं तो फिर बाद में आपको बहुत भारी नुकसान हो सकता है।

इस मामले पर सरकारी ट्विटर एकाउंट ‘पीआईबी फैक्ट चेक’ में कहा गया है कि, ”यह दावा पूरी तरह से फर्जी है। केंद्र सरकार द्वारा ऐसी कोई योजना नहीं चलाई जा रही है। इसके साथ ही पीआईबी समय-समय पर लोगों को सोशल मीडिया पर वायरल इस तरह की खबरों को लेकर सावधान करता रहता है और सच्चाई से रूबरू कराता है।” यह भी पढ़ें :छेड़छाड़ की शिकायत दर्ज नहीं होने पर युवती टॉवर पर चढ़ी, बोली- यहीं से कूद जाऊंगी, बड़ी मुश्किल से आई नीचे

हो जाइए सावधान

ऐसे में इस योजना में फंसने वाले लोगों का बैक खाता भी खाली हो सकता है। पीआईबी का कहना है कि, ”अगर आपके पास कोई वायरल संदेश आए और लिंक आए तो भरोसा न करें। इसके साथ ही दिए गए लिंक पर भूलकर भी क्लिक भी न करें। नहीं तो इससे आपका डाटा लीक या फिर बैंक अकाउंट भी खाली हो सकता है।” यह भी पढ़ें: सुशांत सिंह राजपूत की बहन ने की सोशल मीडिया पर की वापसी

”इस वीडियो के वायरल होने के बाद लोगों में प्रधानमंत्री जन सम्मान योजना के तहत बैंक अकाउंट खुलवाने की भगदड़ सी मच गयी है। लेकिन इस वीडियो और पोस्ट के वायरल होते ही भारत सरकार के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पीआईबी फैक्ट चेक ने इस दावे की जांच की तो पूरा सच सबके सामने आ गया।”

बता दें कि, पीआईबी फैक्ट चेक केंद्र सरकार की पॉलिसी/स्कीम्स/विभाग/मंत्रालयों को लेकर गलत सूचना को फैलने से रोकने के लिए काम करता है. सरकार से जुड़ी कोई खबर सच है या झूठ, यह जानने के लिए PIB Fact Check की मदद ली जा सकती है. कोई भी पीआईबी फैक्ट चेक को संदेहात्मक खबर का स्क्रीनशॉट, ट्वीट, फेसबुक पोस्ट या URL वॉट्सऐप नंबर 918799711259 पर भेज सकता है, या फिर pibfactcheck@gmail.com पर मेल कर सकता है। यह भी पढ़ें: पुलिसकर्मी का प्रवासी मजदूर‌ बच्चों के लिए सराहनीय कदम, ड्यूटी से पहले फ्री में देते हैं शिक्षा


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply