नेटफ्लिक्स के नए शो ‘इंडियन मैचमेकिंग’ की होस्ट सीमा टपारिया, जो कराती हैं चट मंगनी पट ब्याह

नेटफ्लिक्स का नया शो ‘इंडियन मैचमेकिंग’ आजकल काफी चर्चा में है और साथ ही इसकी होस्ट सीमा टपारिया भी सुर्खियों में हैं। शो के नाम से आप अंदाजा लगा ही चुके होंगे कि इसके जरिए शादी के लिए तैयार लड़के और लड़कियों को उनके भावी जीवनसाथी से मिलाया जाता है और अगर सब कुछ ठीक रहता है तो चट मंगनी पट ब्याह हो जाता है। भारतीय समाज में अरेंज्ड मैरिज को काफी इज्जत की नजर से देखा जाता है। यहां मैचमेकिंग यानी शादी के लिए रिश्ते मिलाने का काम पहले पंडित, पुरोहित या घर के बुजुर्ग करते थे, लेकिन अब मैचमेकिंग हाईटेक हो गई है। आजकल कई ऐसी मेट्रिमोनियल वेबसाइट्स और मैरिज ब्यूरो खुल गए हैं जो आपको आपके भावी जीवनसाथी से मिलाने का दावा करते हैं। प्रोफेशनल मैचमेकर भी यही काम करते हैं, लेकिन वे रिश्ते दिखाने से लेकर अपने क्लाइंट की शादी कराने तक का पूरा जिम्मा अपने सिर पर लेते हैं और बदले में अच्छी-खासी रकम भी वसूलते हैं। 57 साल की सीमा टपारिया भी एक प्रोफेशनल मैचमेकर हैं और वह इस बात का पूरा ध्यान रखती हैं कि उनके क्लाइंट्स को सही रिश्ता मिले। उनके शो की लोकप्रियता का अंदाजा से लगाया जा सकता है कि इसके बारे में सोशल मीडिया पर बहस चल रही है और इसके अच्छे और बुरे दोनों पहलुओं पर बात हो रही हैं।

Sima Taparia opens up on her matchmaking process, Netflix show ...
Image Credit : World News Platform

शो को लेकर क्यों हो रहा विवाद

‘इंडियन मैचमेकिंग’ शो मैचमेकर सीमा टपारिया पर आधारित है। यह शो आधी डॉक्यूमेंट्री और आधा रियलिटी शो स्टाइल में पेश किया गया है। शो में आठ क्लाइंट्स हैं, जो कि भारत और अमेरिका में हैं। सीमा इनकी अरेंज्ड मैरिज के लिए पार्टनर की तलाश करती हैं। सीमा टपारिया के इस शो में अरेंज्ड मैरिज की वकालत की गई है और उसे बढ़ावा दिया गया है। इसी के कारण शो को लेकर कई तरह के विवाद भी हो रहे हैं। सीमा और उनके शो पर तरह-तरह के मीम भी बनाए जा रहे हैं। इस शो को काफी आलोचना भी झेलनी पड़ रही है और लोग इसे जातिवाद, रंगभेद, नस्लवाद और रूढ़िवादी सोच को बढ़ावा देने वाला बता रहे हैं। हालांकि सीमा को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि उनका बिजनेस खासी तरक्की कर रहा है।

कौन हैं सीमा टपारिया

सीमा टपारिया एक मैरिज कंसल्टेंट हैं और वह मुंबई में रहती हैं। वह भारत और अमेरिका में रहने वाले लोगों को शादी के लिए रिश्ते दिखाती हैं और उन्हें उनके परफेक्ट मैच से मिलाती हैं। सीमा मूल रूप से कर्नाटक के गुलबर्गा की रहने वाली हैं। 19 साल की उम्र में उनकी शादी मुंबई के उद्योगपति अनूप टपारिया के साथ हुई। उनके पति अनूप और वो 1980 के दशक से साथ हैं। सीमा एक अमीर परिवार से हैं और उनके कई कनेक्शन हैं। एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया, ‘मेरे ससुरालवाले एक रूढ़िवादी मारवाड़ी परिवार से हैं, इसलिए मुझे कभी अपने सपने पूरे करने का मौका नहीं मिला।’ हालांकि वह हमेशा से कुछ ऐसा करना चाहती थीं कि लोग उन्हें उनके नाम से जानें। शुरुआत में सीमा ने शौकिया तौर पर रिश्ते जोड़ना शुरू किया, लेकिन बाद में उन्होंने इसे अपना प्रोफेशन बना लिया।

मैचमेकिंग बिजनेस से मिली शोहरत

इसके बाद सीमा टपारिया ने मुंबई में ही ‘सूटेबल रिश्ता’ के नाम से अपना मैचमेकिंग बिजनेस शुरू किया। पहले वह सिर्फ मारवाड़ी परिवारों के लिए रिश्ते तलाशती थीं, लेकिन बाद में उन्होंने हर जाति के रिश्ते कराना शुरू कर दिया। इससे उन्हें दुनिया भर में शोहरत मिली। अब वह अमेरिका, इंग्लैंड, हॉन्ग कॉन्ग, थाईलैंड, ऑस्ट्रेलिया, सिंगापुर, साउथ अफ्रीका और नाइजीरिया में भी भारतीयों के लिए रिश्ते ढूंढती हैं। खुद को पैदाइशी मैचमेकर बताते हुए सीमा कहती हैं, ‘मैं एक बहिर्मुखी इंसान हूं। मैं सामाजिक भी हूं और नए लोगों से मिलना मुझे बहुत अच्छा लगता है। मैं लोगों से बात करती हूं और उनके बारे में हर छोटी-बड़ी बात अपने दिमाग में बिठा लेती हूं। इससे मुझे मैचमेकिंग में काफी मदद मिलती है।’

चार लाख तक लेती हैं फीस

सीमा कहती हैं कि टिंडर, बंबल और शादी डॉट कॉम का उनसे कोई मुकाबला नहीं हैं क्योंकि वह कोई भी मैच ढूंढने के लिए बारीकी से सब कुछ देखती हैं। कोई भी रिश्ता कराने से पहले वह दोनों परिवारों से मिलती हैं। उनके पारिवारिक मूल्य, रहन सहन और लाइफस्टाइल को देखती हैं और उसी के मुकाबिक रिश्ते कराती हैं। सीमा का काम है अपने क्लाइंट्स की लाइफस्टाइल का आंकलन करना और सभी चीजों को देखने के बाद ही उनके लिए सही रिश्ता चुनना। रिपोर्ट्स के मुताबिक, उनकी फीस 1.5 लाख से 4 लाख के बीच होती है। ये कमिशन लड़का और लड़की दोनों की तरफ से मिलता है। ‘इंडियन मैचमेकिंग’ शो से पहले सीमा ‘अ सूटेबल गर्ल’ नाम की एक डॉक्यूमेंट्री का हिस्सा भी बनी थीं। इसमें वह अपनी बेटी के लिए जीवनसाथी तलाश करती नजर आई थीं।

शो के विवाद का कोई असर नहीं

शो को लेकर हो रहे विवाद का सीमा पर कोई खास असर नहीं दिखता। बिना किसी झिझक के वह कहती हैं, ‘आप ही बताइए, कौन अपने लिए गोरी और सुंदर पत्नी नहीं चाहता।’ हालांकि वह यह भी कहती हैं कि अब वक्त बदल गया है। पहले रिश्ते मिलाने में सिर्फ लड़कों की मर्जी को तरजीह दी जाती थी, लेकिन अब लड़कियों की इच्छा को भी ध्यान में रखा जाता है। वह कहती हैं, ‘आज की लड़कियां पढ़ी-लिखी हैं और अपने पैरों पर खड़ी हैं तो उन्हें इस बात का हक मिलना चाहिए कि उन्हें किससे शादी करनी है। मेरी बहुत सी ऐसी क्लाइंट्स हैं जो मेरे दिखाए कई लड़कों को रिजेक्ट कर चुकी हैं क्योंकि उन्हें एक समझदार जीवनसाथी चाहिए।’


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply