उत्तरप्रदेश: हैवानियत की सारी हदें पार, 13 वर्षीय बच्ची की सामूहिक बलात्कार के बाद की गई हत्या

UP में 13 वर्षीय लड़की के साथ हैवानियत, पुलिस ने आंखें बाहर निकलने और जीभ काटने की बात को किया खारिज
हैवानियत की सारी हदें पार, 13 वर्षीय बच्ची की सामूहिक बलात्कार के बाद की गई हत्या (साभार: NDTV इंडिया)

उत्तरप्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले से दिल दहला देने वाली और इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है। राजधानी लखनऊ से 130 किलोमीटर दूर ईसानगर थाना क्षेत्र के पकरिया गांव में एक 13 वर्षीय नाबालिग बच्ची के साथ सामूहिक बलात्कार कर उसकी हत्या कर दी गई। शुक्रवार, 14 अगस्त को गन्ने के खेत से बच्ची की लाश बरामद की गई।

इतना ही नहीं, आरोपियों ने बच्ची के साथ हैवानियत की सारी हदें पार कर दी। नाबालिग बच्ची के गले में फंदा डालकर उसे खेत में घसीटा भी गया था। इस घटना को नेपाल की बॉर्डर से सटे लखीमपुर जिले में अंजाम दिया गया। 

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक, बच्ची के पिता ने बताया कि उनकी बेटी शुक्रवार दोपहर को शौच के लिए जाने का बोलकर गन्ने के खेत की तरफ गई थी। जब वह डर रात तक नहीं लौटी तब उसकी तलाश शुरू की गई। जब काफी डर तक बच्ची का कुछ पता नहीं चल पाया, तब घटना की जानकारी पुलिस को दी गई।

जब परिजनों के साथ बच्ची की तलाश में जुटी पुलिस की टीम गन्ने के खेत की ओर बढ़ी तब बच्ची की लाश बरामद की गई। पुलिस ने बच्ची के शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बच्ची के साथ सामूहिक बलात्कार होने की पुष्टि हो चुकी है। परिवार वालों के मुताबिक, आरोपी ने दरिंदगी के साथ बच्ची की आंखें भी फोड़ दी और जीभ भी काट दी है। 

हालांकि, एनडीटीवी इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने पीड़ित बच्ची के पिता के आंखे फोड़े जाने और जीभ काट जाने वाले दावे को पूर्ण रूप से खारिज कर दिया है। एसपी सत्येन्द्र कुमार के मुताबिक, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सिर्फ सामूहिक बलात्कार कि ही पुष्टि हुई है। आंख फोड़ने व जीभ काटने की बात पूर्णतः असत्य है।

f5de1krg
(साभार: NDTV इंडिया)

पुलिस ने परिजनों द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर गांव के ही रहने वाले संतोष यादव और संजय यादव को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों पर नाबालिग के साथ बलात्कार करने व हत्या करने की धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है। साथ ही, दोनों आरोपियों के खिलाफ एनएसए एक्ट के तहत कार्यवाई की जाएगी।

इस दर्दनाक घटना के संज्ञान में आते ही उत्तरप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने दुख जाहिर कर घटना कि शर्मनाक बताया। मायावती ने ट्वीट कर लिखा कि, “यूपी के लखीमपुर खीरी के पकड़िया गांव में दलित नाबालिग के साथ बलात्कार के बाद फिर उसकी नृशंस हत्या अति दुखद और शर्मनाक। ऐसी घटनाओं से सपा व वर्तमान भाजपा सरकार में फिर क्या अंतर रहा? सरकार आजमगढ़ के साथ खीरी के दोषियों के विरूद्ध भी सख्त कार्यवाई करें, बीएसपी की यह मांग है।”


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *