1 करोड़ 10 लाख की रिश्वत के आरोप में गिरफ्तार तहसीलदार ने जेल में लगाई फांसी

Tehsildar hanged in jail, arrested for bribe of 1 crore 10 lakh
1 करोड़ 10 लाख की रिश्वत के आरोप में गिरफ्तार तहसीलदार ने जेल में लगाई फांसी

तेलंगाना के किसरा के निलंबित तहसीलदार नागराजू ने हैदराबाद की चंचलगुदा जेल में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। गौरतलब है कि, उन्हें हाल ही में भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार किया था। एसीबी इस भ्रष्टाचार मामले की करीब दो महीने से जांच कर रही थी। यह भी पढ़ें: प्यार में पड़े चचेरे भाई-बहन को घरवालों ने ज़हर देकर मारा, सबूत मिटाने के लिए जलाई लाश

दरअसल, तहसीलदार एक करोड़ 10 लाख रुपये की रिश्वत लेने के मामले के आरोपी थे। जिन‌ पर आरोप था कि तहसीलदार ने एक रियल एस्टेट ब्रोकर कंदादी धर्मारेड्डी और उसके परिवार व अन्य सदस्यों को करीब 24 एकड़ जमीन जालसाजी कर के आवंटित की थी। बदले में नागराजू ने 1.10 करोड़ की नकद रिश्वत ली थी।

जिसके बाद, तेलंगाना में एंटी करप्शन ब्यूरो(एसीबी) की टीम ने 14 अगस्त को मेड़चल-मलकजगिरी जिले के किसरा गांव के तहसीलदार इरवा बलाराजू नागराजू के आवास पर छापा मारी की थी। जिसके दौरान तहसीलदार के पास से 1 करोड़ रुपये से ज्यादा की नकदी बरामद हुई थी। यह भी पढ़ें: 100 महिलाओं ने लाइसेंसी हथियार के लिए किया आवेदन, कहा- आत्मरक्षा के लिए चाहिए बंदूक का लाइसेंस

जिसके बाद कारवाई करते हुए भ्रष्टाचार निवारण की टीम ने तहसीलदार को पकड़ लिया था।

इसके साथ ही मामले में ज्यादा जानकारी हासिल करने के लिए एसीबी ने 3 लोगों को हिरासत में लिया था और उनसे पूछताछ की थी। जिसमें तहसीलदार नागराजू, रियल स्टेट ब्रोकर श्रीनाथ और कन्नड़ा अंजी रेड्डी शामिल थे। यह भी पढ़ें: असम सरकार ने सरकार द्वारा संचालित मदरसों को बंद करने का किया एलान,नवंबर में जारी करेगी अधिसूचना

जिसके बाद अब तहसीलदार ने जेल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। इधर उनके शव को पुलिस ने ऑटोप्सी के लिए उस्मानिया अस्पताल भेजा दिया है, वहीं दबीरपुरा पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। यह भी पढ़ें: सरकार ने प्लास्टिक कचरे से बनाईं एक लाख किलोमीटर सड़कें, इस साल दोगुने का लक्ष्य


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply