पत्रकार की बेटी को ज़िंदा जलाने के मामले में विपक्ष ने राज्य सरकार पर बोला हमला

उत्‍तरप्रदेश के जिलाेें से आए दिन कुछ न कुछ क्राइम की घटना सामने आती ही रहती हैं, जिसके चलते विपक्ष के नेता भी अब चुटकी लेने से पीछे नहीं हटते।

अब हाल ही में उत्‍तरप्रदेश के सुल्तानपुर जिले से एक घटना सामने आयीं, जहाँ एक पत्रकार की बेटी को दबंगों ने जिंदा जला दिया। जिसको लेकर अब विपक्ष ने राज्य सरकार पर हमला बोला है।

यह है पूरा मामला

सुलतानपुर के बल्दीराय थाना क्षेत्र में सोमवार को कुछ दबंगों ने इंसानियत की सारी हदें पार कर पत्रकार प्रदीप सिंह की बेटी को जिंदा जला दिया, जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई।

दरअसल, सोमवार शाम के वक्‍त जब पत्रकार की बेटी श्रद्धा सिंह दरवाजे पर लगे नल से पानी भर रही थी, तभी इस घिनौनी घटना को अंजाम दिया गया। परसौली के रहने वाले सुभाष, महंथ और जय करन नाम के दंबगो ने सरेआम उसे बंधक बनाकर दरवाजे पर ही उसे जला दिया और फिर फरार हो गए। आग की लपटों से घिरी श्रद्धा की आवाज सुनकर परिजन और ग्रामीण मौके पर पहुंचे।

इतना ही नहीं आनन-फानन में श्रद्धा को लोग सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र धनपत गंज लेकर पहुंचे। अस्पताल पहुंचने से पहले ही श्रद्धा 90% जल चुकी थी, जिसके बाद इस अवस्था में उसका मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान हुआ और फिर डॉक्टर्स ने उसे ट्रामा सेंटर लखनऊ रेफर कर दिया। जहां रात में उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई।

लिहाजा मामले पर सभी लोगों में गुस्सा व्याप्त है। इसी बीच मामले में विपक्ष ने भी सरकार पर हमला बोला है।

विपक्ष ने बोला हमला

दरअसल, मामले पर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर हमला बोला है। अखिलेश यादव ट्वीट कर कहा कि, ”सुल्तानपुर में पत्रकार की बेटी को जिंदा जलाकर मारने की घटना से उत्तर प्रदेश सहमा और स्तब्ध है। पुलिस भी घटना के कई घंटों बाद पहुंची, इससे ये सवाल उठता है कि वर्तमान भाजपा सरकार अपराधियों के खिलाफ है या साथ।”


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply