दरिंदगी का सारी हदें पार: बच्चे की चाह में पड़ोसी की बेटी का लिवर निकालकर खाया, दंपति गिरफ्तार

दरिंदगी का सारी हदें पार: बच्चे की चाह में पड़ोसी की बेटी का लिवर निकालकर खाया, दंपति गिरफ्तार

कानपुर के भदरस गांव से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। दरअसल, एक 7 साल की बच्ची की हत्या पर कानपुर पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है। पुलिस का कहना है कि बच्ची की हत्या तंत्र-मंत्र के फेर में बेहद बेरहमी से की गई है।

इस पूरे कांड का मास्टरमाइंड पीड़ित परिवार का पड़ोसी है, जिसने औलाद की चाह में मासूम बच्ची की बलि दिलवा दी। इस काम के लिए उसने अपने भतीजों को पैसे भी दिए थे। यह भी पढ़ें: नाबालिग लड़के ने की पिता की हत्या, क्राइम पेट्रोल एक एपिसोड 100 बार देख कर मिटाए सबूत

मंदिर के पास मिला बच्ची का शव 

बच्ची का शव घाटमपुर इलाके में काली मंदिर के पास मिला। बच्ची के शरीर पर कपड़े नही थे और उसके कुछ अंग गायब थे। बच्ची की चप्पलें भी पास ही में थीं जिसको देखने के बाद परिवार ने कहा कि बच्ची की बलि दी गई है। यह भी पढ़ें: युवती ने बॉयफ्रेंड की हत्या कर पिता संग रचाई शादी, हुई 40 साल जेल की सजा

परशुराम ने रची पूरी साजिश 

पीड़ित परिवार के घर के पास ही रहने वाले परशुराम ने बच्ची की हत्या की साजिश रची थी। पुलिस के मुताबिक, करीब 21 साल से बेऔलाद परशुराम और उसकी पत्नी ने तंत्र-मंत्र के फेर में पड़कर बच्ची की हत्या की पूरी स्क्रिप्ट रची।

इसके लिए उन्होंने पड़ोस में रहने वाले अपने दो भतीजों अंकुर और वीरेंद्र का इस्तेमाल किया। इन दोनों को पैसे देकर किसी बच्ची का कलेजा लाने के लिए कहा गया। यह भी पढ़ें: उत्तरप्रदेश: हैवानियत की सारी हदें पार, 13 वर्षीय बच्ची की सामूहिक बलात्कार के बाद की गई हत्या

डीआईजी प्रतिविंदर सिंह ने बताया कि दोनों युवक बच्ची को चिप्स दिलाने के बहाने ले गए थे। शराब के नशे में धुत दोनों लड़कों ने पहले बच्ची से रेप करने का प्रयास किया और फिर उसकी गला दबाकर हत्या कर दी।

बच्ची का लिवर निकालकर खाया

7 साल की मासूम बच्ची के साथ दरिंदगी का सारी हदें पार करते हुए उसकी हत्या के तुरंत बाद अंकुर और वीरेंद्र ने चाकू से उसका लिवर निकाला और फिर परशुराम को दिया। जिसे पति-पत्नी ने खाया।

पुलिस के अनुसार, परशुराम को किसी तांत्रिक ने ऐसा करने के लिए कहा था और बताया था कि, ऐसा करने से उसके घर में बच्चे की किलकारी गूंजेगी। फिलहाल, पुलिस ने आरोपी पति-पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है। यह भी पढ़ें: तिरुची में बारूद भरा मांस खिलाकर सियार की हत्या, 12 आरोपी गिरफ्तार

सीएम योगी ने लिया मामले का संज्ञान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुद इस मामले में संज्ञान लिया। जिसके बाद से पूरे कानपुर प्रशासन में हड़कंप मच गया। रविवार की रात को ही पुलिस और प्रशासन के अधिकारी बच्ची के घर पहुंचकर उनको मुआवजा देने की जानकारी दी। इसके साथ ही सीएम ने परिजनों को 5 लाख की सहायता का ऐलान किया। यह भी पढ़ें: नेपाली महिला से लखनऊ के होटल में 3 दिन तक ‘बलात्कार’, नागपुर में जीरो एफआईआर दर्ज


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *