गरीब बच्चे के सपने को पुलिस ऑफिसर ने दिया उड़ान भरने का मौका

कोरोना महामारी आज सब पर हावी है फिर चाहे वह गरीब हो या अमीर, लेकिन इस महामारी में पुलिसकर्मियों ने लोगो की सुरक्षा के लिए दिन-रात एक कर दिया है। इन्हें हम एक हीरो की तरह भी देख सकते हैं। हमारी सुरक्षा के लिए पुलिसकर्मी अपने घरों से दूर रहें और कुछ तो पुलिसकर्मी कोरोनकाल में ड्यूटी के दौरान ही संक्रमित हो गये, कुछ को अपनी जान भी गंवानी पड़ी।

photo credit – panjab kesari

इसी बीच इंदौर शहर के पलासिया थाना के एसएचओ विनोद दीक्षित ने एक बहुत की नेक काम किया है। स्कूल और कॉलेज आदि बंद होने के कारण आज की पढ़ाई ऑनलाइन हो रही है, लेकिन इस सुविधा का लाभ उठा पाना आज भी सभी के लिए संभव नहीं है।

ऐसे में इंदौर के पलासिया थाना के एसएचओ विनोद दीक्षित एक गरीब बच्चे को ट्यूशन देते नज़र आए हैं। विनोद दीक्षित एक बच्चे के सपने को उड़ान देने की कोशिश में लगे हुए हैं। विनोद दीक्षित रोज ड्यूटी के बाद उस गरीब बच्चे को जिसका नाम राज मानवरे है, उसे स्ट्रीट लाइट के नीचे ट्यूशन देते हैं। दरअसल, लॉकडाउन में जब विनोद दीक्षित अपने क्षेत्र में बड़ी सख्ती के साथ ड्यूटी कर रहे थे, तभी उनकी मुलाकात राज से हुई थी।

राज ने सभी पुलिसकर्मियों को देश के लिए ऐसे काम करते देख ये ठान लिया की वह भी पुलिस ऑफिसर बनेगा, जब यह बात विनोद दीक्षित ने पूछी कि तुम क्या बनना चाहते हो? तो उसने कहा कि आप जैसा बनना चाहता हूं? तब थाना प्रभारी विनोद दीक्षित ने कहा कि मेरे जैसा बनने के लिए पढ़ाई के साथ-साथ शारीरिक मजबूती भी जरुरी होती है, जिसके लिए फिजिकल एक्सरसाइज और रनिंग की भी जरुरत होती है। इतना सुनने के बाद राज ने एक्सरसाइज और रनिंग शुरू कर दी यह देख थाना प्रभारी काफी प्रभावित हुए और उसे इंग्लिश और मैथ का ट्यूशन देने लगे।

थाना प्रभारी विनोद दीक्षित ने बताया कि यह सिलसिला कई महीनों से चल रहा है। उन्होंने बताया कि राज मन लगाकर पढ़ाई करता इस वजह से पढ़ाने में आनंद भी आता है। राज के दादा ठेला लगाते हैं, इस वजह से वह राज की पढ़ाई के लिए ज्यादा कुछ नहीं कर पाते हैं। इस काम के बाद लोग पलासिया थाना प्रभारी की बहुत प्रसंशा कर रहे हैं। थाना प्रभारी की सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें नज़र आईं, जिनमें लोगों ने प्रतिक्रिया देते हुए बहुत सराहना की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *