निहंगों के हमले का शिकार हुए हरजीत सिंह के सपोर्ट में आए पुलिसवाले, वर्दी पर लगाया उनके नाम का बैज

देशभर में कोरोना संकट के बीच लोगों को इस महामारी से बचाने की कोशिश में कोरोना वॉरियर्स दिन-रात एक कर रहे हैं। इन्हीं वॉरियर्स में एक हैं निहंग सिखों के हमले का शिकार हुए पंजाब के एएसआई हरजीत सिंह। हरजीत के साहस और उनके हौसले को सलाम करने के लिए पंजाब पुलिस ने सोमवार को एक अनूठी मुहिम चलाई। इसके तहत पंजाब पुलिस के 80 हज़ार जवानों ने अपनी वर्दी पर हरजीत सिंह के नाम का बैज लगाया। इस मुहिम को आंध्र प्रदेश पुलिस और दिल्ली पुलिस ने भी समर्थन दिया है। हरजीत सिंह के समर्थन में सोमवार को कई राज्यों के पुलिस अधिकारियों ने अपनी वर्दी पर उनके नाम का बैज लगाया। कुछ दिन पहले लॉकडाउन के नियमों का पालन कराने के विरोध में कुछ निहंगों ने हरजीत सिंह का हाथ काट दिया था।

Andhra, Delhi police come in solidarity with Punjab police SI Harjeet Singh, whose hand was chopped off
Image Credit : Zee News

हर तरफ हो रही इस मुहिम की तारीफ

हैदराबाद के पुलिस कमिश्नर अंजनी कुमार ने पंजाब के डीजीपी को लिखे एक पत्र में कहा, ‘हमारे बहादुर साथी हरजीत सिंह के समर्थन में आज 2000 से ज्यादा पुलिस अधिकारियों ने उनके नाम का बैज लगाया। हमें गर्व है कि हम वही खाकी की वर्दी पहनते हैं जो वो पहनते हैं।’ एएसआई हरजीत सिंह की बहादुरी को सलाम करने के पंजाब पुलिस के इस अंदाज की हर कोई तारीफ कर रहा है। इस मौके पर पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्ता ने कहा, ‘हरजीत सिंह को एएसआई से प्रमोट करके सब-इंस्पेक्टर बना दिया गया है। बहादुरी और शांति का परिचय देकर वो देश में कोरोना वॉरियर्स पर हो रहे हमलों के एक प्रतीक बन गए हैं। उनके प्रति सम्मान दिखाने के लिए यह पंजाब पुलिस का एक छोटा सा प्रयास है।’

पंजाब के डीजीपी ने शुरू की थी मुहिम

मैं भी हरजीत सिंह (#MainBhiHarjeetSingh) नाम की यह मुहिम पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्ता ने ही शुरू की थी। उन्होंने खुद अपनी वर्दी पर हरजीत सिंह के नाम का बैज लगाकर उनका हौसला बढ़ाने की कोशिश की। यह मुहिम देशभर के पुलिसकर्मियों, डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मचारियों पर किसी भी तरह के हमले के विरुद्ध एकता की पहल के तौर पर शुरू की गई, जोकि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में डटे हुए हैं। डीजीपी ने ट्विटर पर लिखा, ‘आइए सबको दिखाएं कि एएसआई हरजीत सिंह की तरह कोरोना वायरस से लड़ रहे पुलिसवालों और डॉक्टरों पर हो रहे हमले भारत को एकजुट कर रहे हैं। हरजीत सिंह सहित सभी योद्धाओं के साथ एकजुटता दिखाने के लिए मैं आप सभी से अपील करता हूं कि आज उनके नाम का बैज अपनी वर्दी पर लगाएं।’ डीजीपी ने ट्वीट किया कि वह खुद पूरा दिन अपने अधिकारिक नाम के बजाय ‘हरजीत सिंह’ का बैज लगाएंगे।

दिल्ली पुलिस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से भी हरजीत सिंह के समर्थन में ट्वीट किया गया।

पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने भी जताई थी खुशी

इससे पहले पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने टि्वटर पर एक वीडियो शेयर कर हरजीत सिंह की सेहत में सुधार की जानकारी दी थी। उन्होंने लिखा था, ‘एसआई हरजीत सिंह के हाथ के ऑपरेशन को दो हफ्ते बीत चुके हैं। आप सबको यह बताते हुए मुझे बहुत खुशी हो रही है कि उनकी सेहत में सुधार हो रहा है और उनके हाथ में दोबारा हरकत होने लगी है।’

पंजाब पुलिस के सम्मान से खुश हैं हरजीत

हरजीत सिंह पीजीआई चंडीगढ़ में भर्ती हैं। 12 अप्रैल को पटियाला की सब्जी मंडी में लॉकडाउन के दौरान कर्फ्यू पास मांगने पर निहंग सिखों ने उन पर हमला कर दिया था और उनका हाथ काट दिया था। साढ़े सात घंटे की मशक्कत के बाद पीजीआई चंडीगढ़ के डॉक्टरों ने उनका हाथ जोड़ दिया था। एसआई हरजीत सिंह पंजाब पुलिस की ओर से दिए गए इस सम्मान से बहुत खुश हैं। उन्होंने कहा, ‘मैंने सपने में भी नहीं सोचा था कि मुझे जिंदगी भर याद रहने वाला ऐसा सम्मान मिलेगा। मैं डीजीपी, एसएसपी साहब सहित पूरी फोर्स व लोगों का आभारी हूं। मैंने जिंदगी में किसी को कभी ऐसा सम्मान मिलते नहीं देखा, सबका शुक्रिया।’


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *