बोहरे भाईयों ने मिलकर बनाए सस्ते इलेक्ट्रिक वाहन, रिमोट से भी किया जा सकता है कंट्रोल

दिन पर दिन देश और दुनिया में लगातार वाहनों की संख्या में वृद्धि हो रही है। बढ़ती वाहनों की संख्या के कारण प्रदूषण भी बड़ी तेजी से बढ़ रहा है, जिसके कारण पर्यावरण और प्राकृतिक पर भी धीरे-धीरे नष्ट होने का खतरा मंडराने लगा है। प्रदूषण को रोकने और पर्यावरण को बचाने के लिए अब धीरे-धीरे इलेक्ट्रिक वाहनों का उपयोग भी बढ़ने लगा है। जो प्रदूषण भी कम करते हैं और पर्यावरण को भी कम नुकसान पहुंचाते है। इलेक्ट्रिक वाहनों के बढ़ते उपयोग को देखते हुए भोपाल के दो बोहरे भाईयों अनमोल (30) और अलंकृत (27) ने मिलकर सस्ते और कम बजट के इलेक्ट्रिक वाहनों का निर्माण किया और एनिग्मा नाम की मोटर कंपनी की स्थापना की। इन वाहनों की कीमत बाजार की तुलना में 40 फीसदी तक कम है। जिसके कारण इन वाहनों को किसी भी वर्ग का व्यक्ति खरीद सकता है।

कैसे शुरु हुई एनिग्मा मोटर्स

एनिग्मा मोटर्स की स्थापना भोपाल के दो भाई अनमोल और अंलकृत ने मिलकर साल 2015 में की। एनिग्मा की शुरूआत होने के पीछे एक दिलचस्प कहानी है। अनमोल बोहरे ने पेशे से इंजीनियर हैं जबकि अलंकृत बेंगलुरु स्थित रियल एस्टेट फर्म कंपनी में काम करते थे। साल 2015 में जब दोनों भाई साथ में दिल्ली घूमने गए तो उन्होंने दिल्ली में खुले इलेक्ट्रिक ऑटोरिक्शा में सफर किया। उस दौरान उन्होेंने देखा कि यह ऑटो न ही प्रदूषण कर रहा है, न ही पेट्रोल चलित है और न ही ये दूसरे ऑटोरिक्शा के बराबर अवाज कर रहे हैं। इन इलेक्ट्रिक रिक्शों से दोनों भाई काफी प्रभावित हुए और इसके बाद दोनों भाईयों ने मिलकर इस बारे में काम करना शुरू किया।

पिता से पैसै उधार लेकर शुरू किया खुद का उद्योग

दिल्ली से आने के बाद दोनों भाइयों ने जोर-शोर से इन वाहनों पर काम करना शुरू किया। उस दौरान इनको ये पता चला कि आगे जाकर भारतीय बाजारों में इलेक्ट्रिक वाहनों की मांग बढ़ने वाली है। दोंनों भाईयों ने अपनी बचत से 2.5 लाख रुपये का निवेश किया और ई-रिक्शे के माॅडल पर खर्च किए। इसके बाद शुरुआत में वेल्डिंग, सस्पेंशन, वायरिंग और शॉर्ट सर्किट जैसी कई असफलताओं का सामना किया। उसके बाद एक ई-रिक्शा माॅडल बनाया और जिसका भोपाल की सड़कों और खेतों में परीक्षण किया। ई-रिक्शा के सफल परीक्षण के बाद दोनों भाईयों ने अपने पिता से पैसे उधार लिए और कंपनी शुरू करने में 12 लाख रुपये का निवेश किया।

गुरुग्राम में मिल चुका है ‘International Centre for Automotive Technology ‘ का प्रमाणपत्र

अनमोल और अलंकृत की कंपनी की सफल स्थापना के बाद से, कंपनी ने अब तक लगभग 300 स्कूटर और रिक्शा बेचे है। उनके पास तीन राज्यों में हर वर्ग के ग्राहक के शामिल है जिसमें एक सब्जी विक्रेता, पेटा विक्रेता से लेकर टॉप टाउन और iShares जैसी बड़ी कंपनियों के ग्राहकों की एक बड़ी श्रृंखला है। दोनों भाईयों की कंपनी को गुरुग्राम में ‘International Centre for Automotive Technology ‘ से केंद्रीय मोटर वाहन नियमों के अनुपालन में एक प्रमाणपत्र भी मिला है।

एनिग्मा स्कूटर और रिक्शों की विशेषताएँ

1.एनिग्मा स्कूटर की कीमत 49,000 से 78,000 तक है। जो तीन अलग अलग माॅडल में उपलब्ध है एम्बियर, क्रिंक, और जीटी 450। वहीं रिक्शे की कीमत 10 लाख रुपये है।

2.एनिग्मा स्कूटर दो अलग अलग बैटरियों में उपलब्ध है लिथियम और आयन जो बहुत कम स्कूटरों में उपलब्ध है। वही रिक्शे को रिमोट की मदद से भी कंट्रोल किया जा सकता है।

3.इस स्कूटर को पूर्ण चार्ज करने में 4 घंटे का समय लगता है जिसके बाद वह एक बार में 140 किमी का सफर तय कर सकता है। वही रिक्शे में घरेलू बिजली साॅकेट लगे होने के कारण इसे कहीं से भी चार्ज किया जा सकता है यह एक बार की चार्जिंग में 100 किमी की दूरी तय कर सकता है।

4.एनिग्मा ऑटो और स्कूटर पुनर्नवीनीकरण है। यदि एक बार खराब हो जाता है तो उसका पुनर्नवीनीकरण हो सकता है।

5. इन सबके अलावा एनिग्मा मोटर्स के द्वारा 3 साल की वारंटी भी दी जाती है।

Covid-19 ने हमें दिखाया कैसै छोटे समय में प्रकृति बदल सकती है – अनमोल बोहरे

अनमोल बोहरे ने एनिग्मा के और इलेक्ट्रिक वाहनों के महत्व समझाते हुए कहा “COVID-19 ने हमें दिखाया है कि प्रकृति छोटी अवधि में कैसे बदल सकती है। यदि हम विद्युत या सौर ऊर्जा जैसे स्रोतो की ओर बढ़ते हैं, तो हम प्रकृति को उसके शुद्ध रूप में बनाए रखने में मदद कर सकते हैं। जीवाश्म ईंधन एक दिन खत्म होने की सम्भावना है। पर्यावरण के माध्यम से, हम अपने कार्बन पैरों के निशानों को कम कर सकते हैं। यह हमारी अर्थव्यवस्था को भी मदद कर सकता है क्योंकि अधिकांश कच्चे तेल का आयात किया जाता है। हमने इसी दृष्टि से अपना उद्यम शुरू किया।”

वहीं अलंकृत बोहरे ने एनिग्मा के बारे में बताते हुए कहा “हमारी पैकेजिंग डिलीवरी के लिए हम इलेक्ट्रिक वाहनों की तलाश कर रहे थे और हम एनिग्मा में आ गए। शुरू में, हम स्थानीय रूप से निर्मित रिक्शा खरीदने में हिचकिचाते थे। एनिग्मा रिक्शों के सफल परीक्षण के बाद, हमने इसे खरीदने का फैसला किया। मैं इसकी गुणवत्ता के लिए विश्वास कर सकता हूँ क्योंकि यह खराब सड़कों पर भी चल सकता है। साथ ही, उन्होंने एक उत्कृष्ट सेवा प्रदान की।”


Connect With US- Facebook | Twitter | Instagram

Leave a Reply